30-November-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

सावधान: राजस्थान में एक साथ 9 लोग पाए गए नए वेरिएंट से संक्रमित, 4 लौटे थे दक्षिण अफ्रीका से, 5 उनके संपर्क में आए

Share This Post:

न्यूज़ डेस्क: राजस्थान में ओमिक्रॉन को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। दक्षिण अफ्रीका से आए 4 लोगों में नए वेरिएंट की पुष्टि हुई है। इनके संपर्क में आए 5 लोगों को कड़ी निगरानी में रखकर उनका टेस्ट कराया गया तो उनमें भी नए वेरिएंट के लक्षण मिले। इसके बाद सूबे में हड़कंप मच गया है। देश में अब कुल 21 लोगों में ओमिक्रॉन के लक्षण मिले हैं। आज ही दिल्ली में इस वेरिएंट का सबसे पहला मामला सामने आया है।

हैदराबाद में विदेशों से आ रहे लोगों ने चिंता बढ़ा दी है। 13 ऐसे लोगों में कोरोना के लक्षण मिले हैं जो हाल ही में किसी दूसरे देश से यहां आए थे। सरकार का कहना है कि सभी के सैंपल लेकर टेस्ट के लिए भेजे गए तो उनमें कोरोना के लक्षण मिले। लेकिन अभी तक यह पता नहीं लग सका है कि ये लोग कौन से वेरिएंट से ग्रस्त हैं। अगर जांच में ओमिक्रॉन का पता लगता है कि तो यह बड़ी चिंता की बात होगी। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि सभी को गहन चिकित्सकीय देखरेख में रखा गया है।

जानकारों का कहना है कि ओमिक्रोन ‘लहर’ का रूप लेगा या नहीं, यह अगले एक से दो महीने में ही साफ हो पाएगा। सरकार की कोविड टास्क फोर्स का हिस्सा डॉ. शशांक जोशी ने कहा, ‘अभी ओमिक्रोन के बारे में बहुत कुछ पता नहीं है। देखना होगा कि यह अगले कुछ सप्ताह में डेल्टा वेरिएंट की जगह ले रहा है या नहीं।’

उन्होंने कहा कि अगल कुछ सप्ताह बेहद सावधान रहने की जरूरत है। अभी उन्हीं लोगों में संक्रमण मिला है जो कि बाहर से यात्रा करके आए हैं। ऐसे में वक्त रहते सावधान हो जाना कई मुसीबतों को टाल सकता है। बता दें कि राजधानी दिल्ली में अब तक ओमिक्रोन के 15 संदिग्ध मरीज अस्पताल में भर्ती कराए जा चुके हैं।

देश में कई जिलों में 700 प्रतिशत तक कोरोना के मामले हाल के दिनों में बढ़े हैं। इस वृद्धि ने चिंतित सरकार ने संबंधित राज्यों को पत्र लिखकर सतर्कता बरतने के लिए कहा है। उधर, कर्नाटक ने कलस्टर नियमों को शनिवार से बदलते हुए और सख्त कर दिया है। राज्य में अब 2-3 मामले एक ही जगह से मिलने पर उस इलाके को कलस्टर क्षेत्र घोषित कर दिया जाएगा।

वहीं सरकार ने यह भी कहा है कि अब तक के अध्ययन से पता चला है कि ओमिक्रोन वैरिएंट में रीइन्फेक्शन के चांस ज्यादा होते हैं। इसलिए लोगों से प्रॉपर मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की गई है।