28-November-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

देश भर में बिहार का फिर जलवा..मानव संसाधन, दूध उत्पादन और फसल बीमा में पहले नंबर पर

Share This Post:

न्यूज़ डेस्क : देश भर में मानव संसाधन विकास, सामाजिक कल्याण और विकास, दूध उत्पादन, क्रॉप इंश्योरेंस में बिहार ने शानदार प्रदर्शन किया है। पूरे देश में बिहार को पहला स्थान मिला है। केंद्र सरकार की ओर से जारी सुशासन सूचकांक-2021 (जीजीआई-2021) में ग्रुप-बी के राज्यों में कृषि और फसल बीमा में बिहार को 32.1 अंक मिले हैं। वहीं, सार्वजनिक इंफ्रास्ट्रक्चर और सुविधाओं में सूबे दूसरे नंबर पर आया है। इस कैटेगरी में गोवा पहले नंबर पर है। प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग की ओर से तैयार जीजीआई-2021 को सुशासन दिवस पर शनिवार को नई दिल्ली में सुशासन सूचकांत गृह मंत्री अमित शाह ने जारी किया है। ग्रुप बी-में आठ राज्य हैं, जिसमें बिहार भी है। इसके अलावा मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, ओडिशा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल हैं। वहीं, ग्रुप-ए में आंध्र प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, गुजरात, तेलंगाना, पंजाब, गोवा और केरल शामिल हैं।

बिहार में शिक्षा की गुणवत्ता सुधरी
सुशासन सूचकांत के अनुसार बिहार में शिक्षा की गुणवत्ता में थोड़ी सुधार हुई है। शिक्षा की गुणवत्ता 0.36 से बढ़कर 0.38 पर पहुंच गई है। वहीं, मांस उत्पादन में भी बिहार का स्थान बढ़ा है। इस क्षेत्र में सूबे का 2019 4.1 अंक था। अब यह बढ़कर 5.5 पहुंच गया है। इसी तरह होर्टिकल्चर उत्पादों में 0.6 अंक से बढ़कर 2.5 पहुंचा है। फूडग्रेन प्रोडक्शन में 1.3 से बढ़कर 5.2 हो गया है। कंपाउंड ग्रोथ में 2.3 से बढ़कर 4.6 अंक मिला है। मानव विकास सूचकांक में पहली से आठवीं क्लास तक स्कूल नहीं छोड़े वालों की दर 58.17 से बढ़कर 75.80 पर पहुंच गया है। इसके अलावा कौशल प्रशिक्षण की स्थिति भी बिहार में बेहतर हुई है।

सभी मानकों के आधार पर गुजरात अव्वल
सुशासन सूचकांक के सभी मानकों के आधार पर गुजरात पहले पायदान पर है। दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र और तीसरे नंबर गोवा है। वहीं, उत्तर प्रदेश के सूचकांक में अच्छी सुधार आई है। इसके 8.9 प्रतिशत अंक सुधरे हैं। झारखंड ने जीजीआई-2019 की अपेक्षा 12.9 प्रतिशत वृद्धि दर्ज कराई है।

सुशासन सूचकांक के क्या हैं मानक
1.एग्रीकल्चर एंड एलायड सेक्टर
2.कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज
3.ह्यमन रिसोर्स डेवलमेंट
4.पब्लिक हेथ
5.पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर एंड यूटिलिटी
6.इकोनॉमिक्स गवर्नेंस
7.सोशल वेलफेयर एंड डेवलमेंट
8.जूडिशियल एंड पब्लिक सेफ्टी
9.इनवायरमेंट
10.सिटीजन सेंट्रिक गवर्नेंस।