10-December-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

सीडीएस बिपिन रावत,उनकी पत्नी मधुलिका रावत और 11 अन्य लोगो की हेलीकॉप्टर क्रैश में मौत..देश में शोक की लहर

Share This Post:

भारतीय वायुसेन ने बुधवार को इस बात की पुष्टि की कुन्नूर के समीप हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और 11 अन्य लोगों की मृत्यु हो गई है.इस हादसे के चलते देश में शोक की लहर दौड़ गई है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह समेत कई तमाम लोगों ने गहरा दुख व्यक्त किया है.

एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर सुलूर से वेलिंगटन के लिए रवाना हुआ था और चालक दल सहित हेलीकॉप्टर में 14 लोग सवार थे. हेलिकॉप्टर कुन्नूर के घने जंगलों में हादसे का शिकार हो गया. बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हेलिकॉप्टर से आग की लपटें उठती दिखाई दीं. गनीमत यह रही कि मानव बस्ती से दूर दुर्घटनाग्रस्त होने से एक बड़ी त्रासदी होने से बच गई. दुर्घटनास्थल पर हेलिकॉप्टर के क्षतिग्रस्त और जले हुए टुकड़े बिखरे पड़े थे. सीडीएस वेलिंगटन में डिफेंस स्टाफ कॉलेज जा रहे थे. वायुसेना ने कहा कि दुर्घटना की ‘कोर्ट ऑफ इंक्वायरी’ के आदेश दे दिए गए हैं.जनरल बिपिन रावत भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) थे. उन्हें 1 जनवरी 2020 को नियुक्त किया गया था. उत्तराखंड के पौड़ी में जन्मे रावत का परिवार चार पीढ़ियों से भारतीय सेना में सेवा दे रहा है. उनकी पत्नी डॉ. मधुलिका रावत राष्ट्र की सेवा में उनकी निरंतर सहायता करती रहीं हैं. वह आर्मी वाइव्स वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष थीं.

बिपिन रावत के पिता लेफ्टिनेंट-जनरल के पद पर थे तैनात

मधुलिका रावत ने सेना के जवानों की पत्नियों, बच्चों और आश्रितों के कल्याण के लिए काम किया. उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से मनोविज्ञान में स्नातक की पढ़ाई पूरी की और वह आर्मी विडो, कैंसर रोगियों, विकलांग बच्चों और अन्य लोगों के लिए काम करने वाले कई सामाजिक अभियानों और कार्यक्रमों का हिस्सा रहीं हैं. जनरल बिपिन रावत और मधुलिका रावत की दो बेटियां हैं. एक बेटी का नाम कृतिका रावत. दोनों बेटियों के सिर से मां-बाप का साया उठ गया है.

बिपिन रावत के पिता लक्ष्मण सिंह रावत ने भारतीय सेना की सेवा की और लेफ्टिनेंट-जनरल के पद पर तैनात थे. दूसरी ओर, उनकी मां उत्तरकाशी के पूर्व विधायक (विधायक) किशन सिंह परमार की बेटी थीं.