28-November-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

ISRO से आया संदेश, कल्पना चावला के बाद अब देश की एक और बेटी भरेगी अंतरिक्ष की उड़ान

Share This Post:

आज हमारे देश की बेटियां एक से बढ़ कर एक प्रतिभायें दिख रही हैं। हरियाणा के करनाल से कल्‍पना चावला के बाद एक और बेटी ने उड़ान भरी है। इंद्री निवासी सुरभि का चयन इसरो (ISRO) में हुआ है। खास बात ये है कि सुरभि भी कल्पना चावला के शहर करनाल से ही संबंध रखती हैं। सुरभि अपनी मेहनत और माता पिता आदि के आशीर्वाद से सफलता हासिल की है। माता पिता अपनी बेटी की इस उपलब्धि पर गौरवान्वित है। सुरभि को शहरवासियों, रिश्तेदारों ने फूलमालाएं व बुके देकर उनका भव्य स्वागत किया।

सुरभि ने बताया कि उसने वाईएससी यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रानिक्स व कम्यूनिकेशन में बीटेक की हैं। इसके बाद गेट परीक्षा की तैयारी करती रही और कुछ समय बाद उसने टीसीएस कंपनी में नौकरी कर ली। फिर उसका चयन BSNL में जेई के पद पर हो गया लेकिन उनके मन में कुछ और बड़ा करने का इरादा था।

सुरभि बताती हैं जब इसरो ने एक साथ 100 सैटेलाइट लांच किए थे तभी से उनके मन में इसरो के साथ काम करने की इच्छा उत्पन्न हुई और उसकी मेहनत रंग भी लाई। इसरो की प्रतियोगिता परीक्षा में वह आल इंडिया 8वीं रैंक हासिल की और एक साइंटिस्ट के रूप में उनका चयन इसरो में हो गया। सुरभि अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता को दिया और कहा कि उनके अभिभावकों ने उनका पूरा सहयोग किया। पूरा भरोसा जताया जिसका परिणाम आज सभी के सामने हैं। उन्होंने युवा वर्ग को संदेश देते हुए कहा कि कड़ी मेहनत से हर लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। खुद पर विश्वास रखे व निरंतर प्रयास करते रहे। सफलता जरूर मिलेगी।

पिता बलदेव राज व माता वीनू ने अपनी बेटी की इस उपलब्धि पर अपार खुशी जाहिर करते हुए कहा कि उनको अपनी बेटी पर पूरा भरोसा था जिस तरह वह कड़ी मेहनत व लगन के साथ पढ़ाई कर रही है, उसको एक दिन सफलता अवश्य मिलेगी। उन्होंने बेटी की सफलता में अपने सतगुरुओं का आर्शिवाद भी बताया। निरंकारी मिशन के इंद्री संयोजक महा सिंह, संजय बजाज ने सुरभि को इस सफलता पर शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि सुरभि ने अपने परिवार के साथ-साथ क्षेत्र का नाम भी रोशन किया है। अच्छे संस्कार व माता-पिता के आशीर्वाद से सफलता अवश्य हासिल होती है। इस मौके पर गुरविन्द्र सिंह पिंकी, संदीप, हरपाल सिंह, नीरज गर्ग, सुनील शर्मा, पुरूषोत्तम कश्यप, अनुज मैके पर मौजूद थे।