01-December-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

बांका: बस से गिरने के बाद खलासी की इलाज के दौरान हुई मौत,पुत्री की विवाह के लिए कर रहे थे कड़ी मेहनत

Share This Post:

बांका: अमरपुर थानाक्षेत्र के इंगलिशमोड़ -शंभुगंज मुख्य पथ पर तेलिया मोड़ के समीप स्टार बस से गिरकर बस के खलासी जख्मी हो गया। गंभीर स्थिति में सहयोगी साथियों ने जख्मी खलासी गुलचरण दास (55) वर्ष को उपचार के लिए फुल्लीडुमर अस्पताल लेकर गये जहां डाक्टरों के द्वारा ज़ख्मी का प्राथमिक उपचार कर गंभीर स्थिति को देखते हुए बेहतर उपचार के लिए भागलपुर रेफर कर दिया। भागलपुर में उपचार के दौरान जख्मी खलासी की मौत हो गयी। मौत की सुचना मिलने पर मृतक के परिजनों में कोहराम मच गया।

मृतक के परिजन मुआवजे की मांग को लेकर खलासी के शव को अमरपुर -कजरैली मुख्य मार्ग पर स्थित डुमरामा गांव के समीप कन्या उच्च विधालय के पास जाम कर दिया।जाम के कारण मुख्य पथ के दोनों और वाहनों की लंबी कतार लग गयी। मौके पर मृतक के पुत्र डुमरामा गाँव निवासी संतोष दास ने बताया कि मेरे पिता बलराम कृष्ण स्टार बस में खलासी का कार्य करता था। बस प्रतिदिन खेसर से भागलपुर के लिए चलती है।

रोजाना की भांति मेरे पिता दिनांक 20 दिसंबर दिन सोमवार को बस पर ड्युटी करने गये थे। करीब तीन बजे सुचना मिली की पिता बस से गिरकर जख्मी हो गये हैं। सुचना मिलने पर पिता के पास फुल्लीडुमर अस्पताल पहुंचा जहां से पिता को लेकर उपचार के लिए भागलपुर चला गया। ईलाज के दौरान सोमवार की देर रात्री पिता की मृत्यु हो गई।

वहीं दुसरी तरफ जाम की सुचना मिलने पर अमरपुर थानाध्यक्ष मु सफदर अली पुलिस बलों के साथ डुमरामा गाँव पहुंच कर जामकर्ताओं को हर संभव सरकारी सहायता दिलाने का आश्वासन देते हुए जाम हटवा दिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि घटना की सुचना फुल्लीडुमर थानाध्यक्ष को दे दिया गया है। मृतक के परिजनों द्वारा लिखित आवेदन मिलने पर आगे की कार्यवाही किया जायेगा।

**पुत्री का विवाह की अधुरी रह गयी सपना, पुत्री की विवाह के लिए मृतक कर रहे थे दिनरात कड़ी मेहनत **

अमरपुर थाना क्षेत्र के डुमरामा गांव निवासी गुलचरण दास की सड़क हादसे में हुई मौत के बाद मृतक के परिजनों में गमों का पहाड़ टुट चुका है। मृतक की पत्नी मंजु देवी एवं अन्य परिजनों का करूण रूदन देखकर मौजुद ग्रामीणों की भी आंखें नम देखी गयी। मौजुद ग्रामीणों ने बताया कि गुलचरण दास बड़े ही मिलनसार प्रवृत्ति के व्यक्ति थे। उन्होंने अपने जीवन काल के दौरान दो पुत्री का विवाह कर दिया था। तीसरी पुत्री फुलमणी कुमारी के विवाह को लेकर गुलचरण दास दिन रात मेहनत कर रहा था। उनके दोनो पुत्र संतोष दास तथा प्रफुल दास बाहर रहकर मजदुरी करते हैं। आज पुत्री का विवाह करने की सपना मृतक के मन में ही रह गया।