06-October-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

भागलपुर: दहेज दानव पति का मांग पूरा नहीं होने पर ‘पत्नी को वीडियो कॉलिंग पर दिया तलाक’,पीड़िता पहुँची एसएसपी कार्यालय.

Share This Post:

भागलपुर: भागलपुर में एक बार फिर तीन तलाक का मामला सामने आया है। दरसल कहलगांव के एनटीपीसी थाना क्षेत्र निवासी एक महिला ने अपने पति मोइन अंसारी पर मारपीट करने ,गर्भपात कराने और वीडियो कॉल कर तीन तलाक देने का आरोप लगाया है। पीड़िता न्याय के लिए लगातार थाना, डीआईजी कार्यालय, व एसएसपी कार्यालय का चक्कर लगा रही है, बावजूद उसको न्याय नहीं मिल पा रहा हैं. इस तरह से तलाक दिए जाने को सुप्रीम कोर्ट अवैध घोषित कर चुका है पीड़िता बीते 2 माह से पुलिस के चक्कर लगाकर थक चुकी है कोई सुनवाई ना देख आज पीड़िता महिला मानवाधिकार संगठन के सदस्यों के साथ भागलपुर की सीनियर एसपी निताशा गुड़िया के कार्यालय पहुंची. पीड़िता मजहबी खातून ने बताया कि मोइन अंसारी और उसके परिवार वालों के खिलाफ शिकायत की है. पीड़िता ने कहा 4 नवंबर 2017 को उसने मोइन अंसारी से शादी की थी. जितना बन सका मेरे परिवार वाले ने उतना रुपया और सामान भी दिया, लेकिन शादी के कुछ दिन बाद ही उसके पति मोइन अंसारी ससुर और सास सहित अन्य लोग दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे दहेज की मांग पूरी ना होने पर उसके साथ मारपीट करते थे. मारपीट के दौरान ही उसके गर्भ में पल रहा 3 माह का बच्चा भी खराब करवा दिया गया था. ससुराल वालों से तंग आकर कई माह पहले मामा के घर रह रही थी, लेकिन दहेज की मांग लगातार जारी रही, आखिर में 2 माह पहले एक दिन फोन कर वीडियो कॉलिंग करते हुए मोइन अंसारी ने मजहबी खातून को तलाक दे दिया. मजहबी खातून के साथ 2 महीने से कहलगांव थाने का चक्कर काट रही उसकी मां रविशा खातून ने बताया कि वह अपनी बेटी मजहबी के साथ थाने का चक्कर लगाकर जब थक गई तो बेटी को आज सीनियर एसपी नेता का गुड़िया के पास न्याय की गुहार लगाने भेजी. जहां एसएसपी निताशा गुड़िया ने आश्वस्त किया है की बहुत जल्द कार्यवाही होगी .वही 2 महीना पहले पहले भी रवि सा खातून अपनी बेटी को लेकर डीआईजी सुजीत कुमार के यहां चक्कर लगा चुकी है. लेकिन आज तक उस मामले में डीआईजी के तरफ से किसी भी तरह की कार्यवाही नहीं की गई और आज भागलपुर के एसएसपी निताशा गुड़िया के पास इस सोच के साथ पहुंची कि शायद एसएसपी महिला है और महिला के दर्द को बखूबी समझ सकती है इसी आशा के साथ मजहबी खातून सीनियर एसपी से न्याय की गुहार लगाई.बहरहाल देखना अब यह होगा की आखिर कब तक पीड़िता थाना और वरीय पुलिस अधिकारियों का दरवाजा खटखटाती हैं और उसे न्याय मिलती है?

यह भी पढ़ें:भागलपुर जिले में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन आने से पुलिस प्रशासन चुस्त-दुरुस्त,चलाया जा रहा है सघन मास्क चेकिंग अभियान,पढ़े पूरी रिपोर्ट संक्षिप्त में।