05-October-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

भागलपुर: कोरोना वायरस से जूझ रहे अभिभावकों को फीस नहीं देने के कारण मानसिक रूप से किया गया प्रताड़ित,आक्रोश का माहौल:

Share This Post:

भागलपुर: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहे लोगों को निजी विद्यालयों के द्वारा लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है, जिससे छात्र-छात्राओं के साथ-साथ उनके परिजन भी काफी परेशान हो रहे हैं, ताजा मामला भागलपुर के नवयुग विद्यालय से जुड़ा है ,जहां नवम के कई छात्र छात्राओं को बकाया फीस नहीं दिए जाने के कारण फाइनल परीक्षा में स्कूल प्रशासन के द्वारा शामिल नहीं होने दिया गया, इस दौरान परेशान छात्र छात्राओं और उनके अभिभावकों ने स्कूल प्रबंधन से परीक्षा दिए जाने की गुहार भी लगाई, लेकिन निजी स्कूल प्रबंधन के कान पर जू तक नहीं रेंगा, परीक्षा नहीं दिए जाने से निराश छात्रा राज्यश्री ने बताया कि उसके पिता कुवैत में कार्य करते हैं , स्कूल के प्राचार्य को एक-दो दिनों में बकाया राशि दे देने की बात भी कही गई, लेकिन उसे परीक्षा में शामिल होने नहीं दिया गया.

मानसिक प्रताड़ना से परेशान अभिभावक :

वही अभिभावक मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि उनकी पुत्री सपना नवम की छात्रा है, और लॉकडाउन लगाए जाने के कारण परिवार की स्थिति खराब हो गई थी, इसलिए स्कूल प्रशासन से कुछ दिनों का समय बकाया फी दिये जाने को लेकर किया गया था ,लेकिन स्कूल के मनमाने रवैए के कारण आज उनकी बेटी सहित कई छात्र छात्राओं को मानसिक रूप से परेशान करते हुए परीक्षा में शामिल नहीं होने दिया गया , वही स्कूल प्रबंधन के संध्या महेश का ने कहा कि अभिभावकों के द्वारा स्कूल का बकाया राशि दिए जाने के बाद फिर से परीक्षा आयोजित कर फाइनल परीक्षा ली जाएगी , एक तरफ सरकार और जिला प्रशासन शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई विकास योजनाएं चला रही है और वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के दौरान के स्कूल की फीस को भी कई जगह पर माफ कर दिया गया है ,वहीं भागलपुर के निजी विद्यालय के द्वारा फीस जमा नहीं करने वाले छात्र-छात्राओं के परीक्षा से वंचित किए जाने को लेकर छात्र छात्राओं के साथ आम जनों में आक्रोश का माहौल देखा जा रहा है, जरूरत है जिला प्रशासन के द्वारा ऐसा काम करने वाले स्कूलों पर लगाम लगाए जाने की…

फाइनल परीक्षा से वंचित छात्राएँ :