26-September-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

भागलपुर: बिहार पुलिस सप्ताह के पांचवे दिन,SSP निताशा गुड़िया के नेतृत्व में लगाए गए दर्जनों वृक्ष।

Share This Post:

भागलपुर: इन दिनों पूरे प्रदेश में बिहार पुलिस द्वारा आम जनता से जुड़ने और करीब आने की पहल को लेकर पुलिस सप्ताह का आयोजन किया गया है ,पुलिस सप्ताह के पांचवें दिन भागलपुर के पुलिस लाइन में वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया , भागलपुर कि सीनियर एसपी निताशा गुड़िया के नेतृत्व में पुलिस लाइन में दर्जनों पेड़ लगाए गए, इस दौरान पुलिस कप्तान ने कहा की पुलिस विभाग के द्वारा आम जनता को अपने कष्टों के बारे में पुलिस को बताने में कोई संकोच नहीं हो,साथ ही पुलिस भी जनता की समस्याओं का खुलकर निराकरण कर सके, इसको लेकर पुलिस सप्ताह का आयोजन किया जाता है , इस दौरान जिलेभर में कई कार्यक्रमों और प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, और इन सभी प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को पुलिस सप्ताह के समापन के मौके पर पुरस्कृत भी किया जाएगा।


भागलपुर रेलवे स्टेशन परिसर में बिहार पुलिस सप्ताह के तहत पेंटिंग प्रतियोगिता का किया गया आयोजन।

भागलपुर: भागलपुर रेलवे स्टेशन परिसर पर बिहार पुलिस सप्ताह के तहत पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, केंद्रीय रेलवे रेल यात्री संघ एवं रेल जिला पुलिस जमालपुर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित पेंटिंग प्रतियोगिता में जिले के अलग-अलग स्कूल के छात्राओं ने भाग लिया ,नशा खुरानी ,बाल विवाह, शराबबंदी, दहेज प्रथा को लेकर आयोजित प्रतियोगिता में फर्स्ट प्राइस एलिमेंट्री स्कूल सुल्तानगंज, द्वितीय पुरस्कार एलिमेंट्री स्कूल नाथनगर, तृतीय पुरस्कार पीएम पब्लिक स्कूल शेरमारी पीरपैंती को दिया गया ,इसके अलावा 55 बच्चों ने भाग लिया ,सभी बच्चों के बीच प्रमाण पत्र तथा मेडल का वितरण भी किया गया , कार्यक्रम में जीआरपी के थानाध्यक्ष अरविंद कुमार, आरपीएफ प्रभारी अनिल कुमार सिंह, रेल के स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर सत्येंद्र कुमार, केंद्रीय रेलवे रेल यात्री संघ के अध्यक्ष विष्णु खेतान तथा संस्था के मनोज बुधिया, रवि चिरानिया, राजेश टंडन, डॉक्टर सीताराम शर्मा, राकेश जैन, सुमित कुमार, गोविंद मिश्रा, सहित कई लोग मौजूद थे.