30-September-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

भागलपुर: SDO का सरकारी हथियार से भरोसा खत्म,प्राइवेट अत्याधुनिक हथियार से करवा रहें है अपनी रक्षा :

Share This Post:
बिहार सशस्त्र वाहिनी का गार्ड

रिपोर्ट/- कुणाल शेखर/- भागलपुर: सरकार के द्वारा आम लोगों के साथ-साथ खास और सभी प्रशासनिक पदाधिकारियों के लिए भी उनके दायरे को लेकर संविधान बनाया गया है, लेकिन हम जो तस्वीर आपको दिखाने जा रहे हैं ,वह सरकारी आदेश को ठेंगा दिखाने वाला है, तस्वीर भागलपुर के सैंडिस कंपाउंड मैदान में आयोजित तीन दिवसीय एथलेटिक्स प्रतियोगिता के दौरान की है , जहाँ एक बी.एम.पी का जवान प्राइवेट राइफल लिए अपनी ड्यूटी बजाता दिख रहा है।

कार्यक्रम के दौरान भागलपुर की सीनियर एसपी निताशा गुड़िया सहित कई पुलिस पदाधिकारी मौजूद थे, खोजबीन करने पर पता चला कि यह बिहार सशस्त्र वाहिनी का गार्ड सुपौल जिले के कार्यरत है.

त्रिवेणीगंज एसडीओ मोहम्मद जेड हसन

और त्रिवेणीगंज एसडीओ जनाब मोहम्मद जेड हसन के घर पर उसकी तैनाती है , एसडीओ साहब का घर भागलपुर जिले में है और वे लगातार 14 वर्षों से भागलपुर जिला एथलेटिक्स एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं, और जवान उनका लाइसेंसी राइफल लेकर बॉडीगार्ड की तरह घूम रहा है, बी.एम.पी के मैनुअल में यह कहीं भी नहीं है कि वह प्राइवेट हथियार लेकर किसी भी पदाधिकारी या व्यक्ति की सुरक्षा मेल लगे रहें, लेकिन जब मामला आम का ना होकर खास का हो और उस पर भी किसी प्रशासनिक पदाधिकारी का तो फिर क्या कहने, इस मामले को लेकर जब त्रिवेणीगंज के एसडीओ जेड हसन से पूछने की कोशिश की गई तो वह कैमरे के सामने कुछ भी कहने से इनकार करते हुए इसे निजी मामला करार दिया, और इससे भागलपुर में आयोजित होने वाले खेल के सेहत पर असर होने तक की बात कह दी ,हालांकि इस मामले पर जब सुपौल एसपी मनोज कुमार से बात की गई तो उन्होंने जांच कर उचित कार्रवाई करने की बात कही, अब देखना यह शेष है की सुशासन का दंभ भरने वाली इस सरकार में ऐसा करने वाले प्रशासनिक पदाधिकारी पर विभाग क्या कार्रवाई करती है…

सुपौल एसपी मनोज कुमार

आधुनिक हथियार पर एसडीओ साहब को भरोसा

बता दें कि भागलपुर के रहने वाले एसजेड हसन 24वीं एथलेटिक्स चैंपियनशिप कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे. जहां उनकी सुरक्षा में लगे होमगार्ड के जवान आधुनिक हथियार से लैस थे.

क्या है कानून
किसी भी वीआईपी के सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी को ड्यूटी के दौरान आवंटित किये गये हथियार के साथ ही ड्यूटी करनी है. यदि उस नियम का उल्लंघन होता है तो उस सुरक्षाकर्मी के ऊपर विभागीय कार्रवाई की जाती है.

यह भी पढ़े- भागलपुर: सैंडिस कंपाउंड मैदान ने तीन दिवसीय एथलेटिक्स प्रतियोगिता का हुआ रंगारंग समापन,500 प्रतिभागियों ने लिया भाग,पढ़े पूरी रिपोर्ट संक्षिप्त में..।।