30-September-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

भागलपुर: परिवाहन विभाग परिसर में शराब पार्टी करते हुए सात कर्मचारी गिरफ्तार, भागलपुर पुलिस ने की कार्रवाई।

Share This Post:

-जिस कमरे में चल रही थी पार्टी, वहां से विदेशी शराब की आधी बाेतल भी पुलिस ने की बरामद।

-ब्रेथ एनालाइजर में पुष्टि नहीं, 5 घंटे बाद अस्पताल की जांच में 1 नशे में मिला।


भागलपुर: जोगसर पुलिस ने शनिवार दोपहर 3.30 बजे डीटीओ ऑफिस में छापेमारी कर शराब पार्टी करते 6 डाटा इंट्री ऑपरेटर और एक प्रोग्रामर को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आधा बोतल विदेशी शराब भी जब्त किया है। पुलिस ने गिरफ्तारी के 5.30 घंटे बाद रात करीब 9 बजे सभी की मायागंज अस्पताल में अल्कोहल जांच कराई।इसमें एक के शराब पीने की पुष्टि हुई। बाकी 6 की रिपोर्ट निगेटिव आई। इससे पहले गिरफ्तारी के तुरंत बाद थाने में ब्रेथ एनालाइजर से जांच कराई थी, लेकिन किसी के शराब पीने की पुष्टि नहीं हुई। मायागंज की अल्कोहल जांच रिपोर्ट फिलहाल पुलिस को नहीं मिली है। मामले में उत्पाद अधिनियम की धाराओं में सभी पर जोगसर थाने में केस दर्ज किया गया है। रविवार को सभी को जेल भेजा जाएगा। गिरफ्तार डाटा इंट्री ऑपरेटर और प्रोग्रामर का अनुबंध समाप्ति की भी तैयारी विभागीय स्तर से की जा रही है। छापेमारी में सिटी एएसपी पूरन झा, जोगसर थानेदार अजय कुमार अजनबी, दारोगा शिवनंदन सहनी, चंद्रदीप कुमार, जमादार प्रभाष पांडेय और पुलिस बल शामिल थे।

चपरासी को पहरे पर बिठाया और कमरे में पीने लगे शराब.

छापेमारी टीम में शामिल पुलिसवालों ने बताया, डीटीओ ऑफिस के जिस कमरे में ऑपरेटरों की शराब पार्टी चल रही थी, वहां ऑफिस के चपरासी की पहरेदारी लगाई गई थी। पियून को कर्मियों ने ताकीद किया था कि किसी को भीतर नहीं आने दे। एएसपी पूरन झा को शराब पार्टी की गुप्त सूचना मिली तो वे तुरंत जोगसर पुलिस के साथ छापेमारी को पहुंचे। टीम में कुछ पुलिसवालों को सादे लिबास में रखा गया था। सबसे पहले सादे लिबास वाले पुलिसवालों को कमरे में भेजा तो पहरेदारी कर रहे पियून ने रोका। लेकिन पियून तुरंत समझ गया कि वह पुलिसवाला है। भीतर में शराब पार्टी चल रही थी। पीछे से आए वर्दीधारी पुलिसकर्मियों ने पहले कमरे का वीडियो बनाया, फिर सभी को गिरफ्तार किया। मौके से आधा बोतल भी जब्त हुआ। तुरंत मामले की जानकारी डीटीओ को दी गई। एमवीआई अनिल कुमार ने बताया पकड़े गए सभी कर्मियों की सेवा समाप्ति के लिए लिखा जाएगा। एक कंपनी से ये लोग संबद्ध हैं। गिरफ्तार रोहित प्रोग्रामर है, जबकि बाकी 6 लोग डाटा इंट्री ऑपरेटर।

कोरोना और फिटनेस जांच के नाम पर 2 घंटे कर दी देर।

गिरफ्तार कर्मियों को पहले कोरोना व फिटनेस जांच के लिए सदर अस्पताल ले जाया गया। दोनों जांच में करीब 2 घंटे लगे। तब सभी को अल्कोहल जांच के लिए मायागंज ले गए। माना जा रहा है कि जांच में देरी से ज्यादातर कर्मियों में शराब की पुष्टि नहीं हुई। वही भागलपुर सीनियर एसपी निताशा गुड़िया ने कहा कि-सातों आरोपी शराब की बोतल के साथ पकड़े गए हैं। सभी सामूहिक रूप से बैठ कर शराब पीने की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान पुलिस को सूचना मिली और छापेमारी की गई।