27-June-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

भागलपुर: अतिक्रमण हटाने गए पुलिस कर्मियों पर ग्रामीणों ने किया पथराव; सड़क जाम कर की आगजनी

Share This Post:

BHAGALPUR: बिहार (Bihar) के भागलपुर जिला अंतर्गत सुल्तानगंज थाना क्षेत्र में उस समय अफरातफरी का माहौल बन गया.जब गुरुवार को अतिक्रमण मुक्त कराने गए सुलतानगंज अंचलाधिकारी शम्भू शरण राय और स्थानीय पुलिस अतिक्रमणकारी स्थल पर पहुँचें. वही अतिक्रमणकारियों ने स्थानीय पुलिस कर्मियों पर पथराव कर दिया.जिसमे कई पुलिसकर्मी की घायल होने की सूचना है.वही गुस्साए अतिक्रमणकारी यहीं नही रुके उन्होंने मुख्य सड़क पर आगजनी कर कई घंटों तक जाम कर दिया.

पूरा मामला भागलपुर जिले के सुल्तानगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत वार्ड संख्या 8 के काशीपुर गांव की है.जहां अंचलाधिकारी शंभू शरण राय के नेतृत्व में गुरुवार को बुलडोजर और भारी संख्या में पुलिस बल के साथ 13 घरों को खाली कराने पहुंचे थे. इसी दौरान ग्रामीणों ने पुलिस पर हमला कर दिया जिसमें की कई पुलिस कर्मी घायल हो गए वहीं ग्रामीणों को उग्र देख सीओ और पुलिसकर्मी मौके से फरार हो गए. वहीं घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने सुलतानगंज भागलपुर मुख्य मार्ग के कासिमपुर गांव के समीप एनएच 80 पर टायर जलाकर विरोध प्रशासन करते हुए पिछले 2 घंटों से जाम कर आवागमन बाधित कर दिया है इस दौरान कई गाड़ियां को भी छतिगस्त कर दिया.

प्रशासन के निर्देश पर कासिमपुर गांव के पास अतिक्रमण को हटाया : सीओ
मामले पर सीओ शिव शंभू शरण ने बताया कि जिला प्रशासन के निर्देश पर कासिमपुर गांव के पास पीडब्लूडी के जमीन पर अतिक्रमण कर वर्षों से रह रहे लोगों के घरों पर प्रशासन का बुलडोजर चला है। जिसका उन लोगों ने विरोध किया और पत्थरबाजी की है। पत्थरबाजी देख मौके से स्थानीय पुलिस और सर्किल ऑफिसर फरार हो गए।

ग्रामीणों की मांग घर के बदले घर मिले, नहीं तो होगा आंदोलन
अतिक्रमण करने वालों में कुछ महिलाओं ने बताया कि प्रशासन ने हमलोगों को सामान तक निकालने का मौका नहीं दिया। सीधे बुलडोजर लाकर घर को तोड़ने लगे। अब हमलोग कहां जाएंगे। हमारे छोटे-छोटे बच्चे हैं। यह काम किसी दुर्भावना से ग्रस्त होकर किया जा रहा है। हमलोगों की मांग है कि घर के बदले घर दिया जाय। नहीं तो उग्र आंदोलन करेंगे। उन्होंने प्रशासन को यह चेतावनी दे डाली इस तरह की कार्रवाई बर्दाश्त नहीं करेंगे।