28-November-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

Bihar: UPSC में बिहार की अंकिता बनी सेकेंड टॉपर तो वहीं बिहार के शुभंकर ने प्राप्त किया 11वां रैंक

Share This Post:

MADHEPURA: एक बार फिर बिहार के छात्र-छात्राओं ने UPSC में बाजी मारी है। सोमवार को रिजल्ट घोषित हुआ जिसमें मधेपुरा के बिहारीगंज की अंकिता अग्रवाल ने देश में दूसरा स्थान हासिल किया है। इस बार पहले 3 स्थानों पर लड़कियों ने कब्जा जमाया है। पिछले वर्ष UPSC टॉपर बिहार के शुभम थे। पिछले साल UPSC के टॉप 10 में बिहार से 3 अभ्यर्थी थे। इस बार टॉप टेन में अंकिता ही शामिल हो पाई हैं।

अंकिता का फैमली कोलकाता में रहता है। अंकिता का बचपन बिहारीगंज गुदरी बाजार, पंचमुखी हनुमान मंदिर के सामने बीता है। उनकी प्रारंभिक शिक्षा बिहारीगंज के मॉडर्न पब्लिक स्कूल से हुई है। अंकिता के दादा मालीराम अग्रवाल व पिता मनोहर अग्रवाल का बिहारीगंज में हार्डवेयर का व्यवसाय था। बिहारीगंज के व्यवसाय को अपने रिश्तेदार को सौंप कर वे कोलकाता शिफ्ट कर गये

मोतिहारी के पताही प्रखंड के नारायणपुर गांव निवासी शुभंकर प्रत्युष पाठक को 11वां रैंक और मुंगेर की अंशु प्रिया को 16वां स्थान मिला है। पटना बिस्कोमान कॉलोनी के रहने वाले आशीष ने पहले प्रयास में ही 23वीं रैंक हासिल की है। वहीं आशीष के मौसेरे भाई गया जिले के अनिकेत ने 277वीं रैंक हासिल की है। आपको बता दें कि बिहार के 22 से अधिक अभ्यर्थी सफल हुए हैं। सारण जिले के जलालपुर की निवासी दिव्या शक्ति ने 58वीं रैंक, सहरसा के शैलजा को 83वीं रैंक, कटिहार के अमन को 88वीं रैंक मिली है। वहीं मुजफ्फरपुर के मीनापुर के टेंगराहां के अभिनव कुमार को 146वीं रैंक, गोपालगंज के गौरव शुक्ला को 153वीं रैंक, किशनगंज के राज कृष्णा को 168वीं रैंक मिली है।

मुजफ्फरपुर के मीनापुर प्रखंड के विशाल कुमार को 484वीं रैंक मिली है। विशाल के पिता बिकाऊ प्रसाद एक मजदूर थे जिनकी मौत के बाद परिवार कर्ज में डूब गया था। मैट्रिक की परीक्षा में जिला टॉपर रहे। आईआईटी कानपुर में केमिकल इंजीनियरिंग में बीटेक करने के बाद तैयारी कर रहे थे।मुख्यमंत्री नारी शक्ति योजना के तहत ‘सिविल सेवा प्रोत्साहन राशि’ पाई पांच छात्राएं भी सफल हुई हैं। मुंगेर की अंशु प्रिया को 16वीं रैंक, सहरसा की शैलजा को 83वीं रैंक, मुजफ्फरपुर की शिवानी को 122वीं रैंक, पटना की प्रिया रानी को 284वीं रैंक, कैमूर की साक्षी को 330वीं रैंक मिली है।

महिला एवं बाल विकास निगम की प्रबंध निदेशक हरजोत कौर ने बताया कुल 22 छात्राओं को एक-एक लाख रुपये प्रदान किये गए थे। जिसमें से 5 छात्रों ने सफलता हासिल की है। वहीं औरंगाबाद की शुभ्रा शर्मा को 197वां स्थान मोहनिया की साक्षी कुमारी को 330वां स्थान, नवादा के आलोक रंजन को 346वां स्थान मिला है। वे रोह प्रखंड के गोरिहारी गांव के निवासी हैं। वहीं, रोहतास जिले के अमन आकाश को 360वां स्थान मिला है। बिक्रमगंज के शांति नगर मुहल्ला के रहने वाले अमन ने एमपी में एसबीआई में मैनेजर के पद पर रहते हुए यह सफलता हासिल की है। वहीं औरंगाबाद के अंकित सिन्हा ने 472वां रैंक हासिल किया है।