09-December-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

Bihar: सुपौल में DSP की गाड़ी से कुचले गए जवान की मौत, इलाज के दौरान दो दिनों बाद तोड़ा दम

Share This Post:

SUPAUL: जिले के निर्मली डीएसपी (DSP) पंकज कुमार की गाड़ी से एक्सीडेंट में जख्मी पुलिस जवान की इलाज के दौरान सोमवार को मौत हो गई. वह यूपी के गाजीपुर के गहमर निवासी रिटायर्ड पुलिस सब इंस्पेक्टर अलाउद्दीन बेटे सरफराज अंसारी थे. सरफराज निर्मली डीएसपी आवास में सुरक्षाकर्मी के पद पर कार्यरत थे. ड्यूटी के दौरान ही निर्मली प्रखंड कार्यालय से पश्चिम पुलिस इंस्पेक्टर आवास के पास 12 नवंबर की सुबह डीएसपी की गाड़ी ने उनको कुचल दिया था. दरभंगा के पारस अस्पताल (Paras Hospital) में उनका इलाज चल रहा था.

जवान को दरभंगा रेफर किया गया था

गंभीर रूप से जख्मी सरफराज को देखकर आसपास के लोग भी दौड़े-दौड़े पहुंचे थे. जवान अनुमंडलीय अस्पताल निर्मली में भर्ती कराया गया था. अनुमंडलीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया था. सूचना मिलते ही निर्मली डीएसपी पंकज कुमार व पुलिस इंस्पेक्टर केके मांझी भी अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचकर जख्मी जवान का हाल जाना था. वहीं अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर अमित कुमार ने जख्मी जवान को बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया था.

पसली और पैर फ्रैक्चर था

अनुमंडलीय अस्पताल में ड्यूटी पर मौजूद डॉ. अमित कुमार ने शनिवार को बताया था कि रोड ट्रैफिक एक्सीडेंट के तहत एक पुलिस जवान को अस्पताल लाया गया था. जवान का पसली और पैर फ्रैक्चर था. सांस लेने में भी कठिनाई हो रही थी. प्राथमिक उपचार के बाद स्थिति गंभीर देख बेहतर ट्रीटमेंट के लिए डीएमसीएच दरभंगा रेफर कर दिया गया. निर्मली डीएसपी पंकज कुमार ने बताया था कि जवान को बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर भेजा गया है जहां उनका इलाज चल रहा.

शव निर्मली थाना लाया गया

इधर, सोमवार की सुबह निजी एम्बुलेंस से पुलिस जवान का पार्थिव शरीर निर्मली थाना लाया गया. मृतक पुलिस जवान सरफराज के पिता अलाउद्दीन, दो भाई व अन्य परिजन भी साथ में थे. इस बीच मृतक जवान के पिता ने बताया कि निर्मली डीएसपी की गाड़ी से उनके पुत्र की एक्सीडेंट की सूचना उन्हें मिली थी. इसके बाद वे दरभंगा स्थित पारस अस्पताल पहुंचे थे. इलाज के दौरान उसके पुत्र की मौत हो गई. उन्होंने निर्मली थाना में दिए आवेदन में कहा है कि निर्मली डीएसपी की गाड़ी के ड्राइवर ने लापरवाही व तेजी से उनके पुत्र सरफराज को धक्का मार दिया था.