09-December-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

Bihar: गोपालगंज के टैक्सी ड्राइवर के बेटे का टीम इंडिया में चयन, न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलेगा पहला मैच, परिवार में ख़ुशी की लहर

Share This Post:

GOPALGANJ: बिहार के गोपालगंज के एक छोटे से गांव काकड़कुंड के रहनेवाले मुकेश कुमार का इंडिया-ए क्रिकेट टीम में चयन हुआ है. टैक्सी ड्राइवर का बेटा मुकेश कुमार न्यूजीलैंड के खिलाफ बतौर तेज गेंदबाज पहला मैच खेलेगा. बीते 24 अगस्त को 30 वर्षीय मुकेश का चयन इंडिया A टीम में हुआ है. मुकेश के चयन से पूरे जिले में खुशी की लहर दौड़ गई है. काकड़कुंड गांव के रहनेवाले मुकेश कुमार एक साधारण परिवार से ताल्लुक रखते हैं. उसके पिता स्वर्गीय काशीनाथ सिंह कोलकाता में टैक्सी चलाते थे. दो साल पहले ब्रेन हैमरेज होने के कारण उनकी मौत हो गई थी. बेटे के चयन पर मां और चाचा समेत परिवार के अन्य लोग खुशी से फूले नहीं समा रहे हैं.

गोपालगंज में आयोजित एक क्रिकेट प्रतियोगिता में 7 मैच में एक हैट्रिक सहित 34 विकेट लेकर मुकेश कुमार पहली बार चर्चा में आए थे. इसके बाद वह जिला टीम में आ गए. बिहार में क्रिकेट की मान्यता नहीं होने के कारण उन्होंने बंगाल का रुख किया और वहां से कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. मुकेश रणजी ट्रॉफी के लगातार दो सीजन में 30 से ज्यादा विकेट लेकर चयनकर्ताओं की नजर में आ गए और इंडिया-ए टीम में उनका चयन हो गया. दाहिने हाथ के तेज गेंदबाज मुकेश की साल 2005-06 में ‘प्रतिभा की तलाश क्रिकेट प्रतियोगिता’ में प्रतिभा देखी गई थी. इसके बाद साल 2009-10 में बिहार अंडर-19 टीम में सिलेक्ट हुए.

मुकेश के चाचा धर्मनाथ सिंह के मुताबिक साल 2010 में हुए एक एक्सीडेंट ने उसकी तकदीर बदल दी. तब टैक्सी चालक पिता ने उसे कोलकाता बुला लिया था. कोलकाता में रहकर वह क्रिकेट खेलने लगा. साल 2014 में बंगाल टीम में शामिल हुआ और अगले साल रणजी ट्राफी के एक मैच में वीरेंद्र सहवाग का विकेट लिया था. मां मालती देवी के अनुसार मुकेश का क्रिकेट के प्रति इतना लगाव था कि वह खेलने के लिए साइकिल से ही 15 से 20 किलोमीटर चला जाता था. कई बार उसे डांट-फटकार भी लगाया करते थे, बावजूद छुपकर वह क्रिकेट खेलने निकल जाता.

बता दें कि दाहिने हाथ के तेज गेंदबाज मुकेश ने कोलकाता में मनोज तिवारी की कप्तानी में खेलना शुरू किया था. मनोज तिवारी भारत के लिए मैच खेल चुके हैं. अपने फर्स्ट क्लास क्रिकेट करियर में मुकेश ने अब तक 26 मैचों में 95 विकेट लिया है. इस दौरान उन्हें अशोक डिंडा, मोहम्मद शमी के साथ भी खेलने और सीखने का मौका मिला. वहीं अरूण लाल और वकार यूनुस जैसे दिग्गज खिलाड़ियों ने उनकी बॉलिंग की तारीफ की है. ऐसे में बिहार के गोपालगंज के एक छोटे से गांव काकड़कुंड के रहनेवाले मुकेश कुमार का इंडिया-ए क्रिकेट टीम में चयन से जिले के लोग ही नहीं बल्कि पूरा बिहार खुश है.