25-June-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

बिहार: हेड क्‍लर्क निकला थानेदार से ज्‍यादा अमीर, EOU की छापेमारी में बड़ा खुलासा

Share This Post:

न्यूज़ डेस्क: बिहार में भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई लगातार जारी है. इस कड़ी में मंगलवार को दो भ्रष्ट अधिकारियों के ठिकानों पर आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) ने छापमारी की. मंगलवार को ईओयू ने भोजपुर के सहार के तत्कालीन थानेदार आनंद कुमार सिंह और औरंगाबाद के जिला कल्याण कार्यालय के प्रधान लिपिक अमरेश राम के ठिकानों पर छापेमारी की. इस दौरान प्रधान लिपिक के पास थानेदार से भी ज्यादा चल-अलच संपत्ति का पता चला है.

ईओयू की छापमारी में हेड क्‍लर्क अमरेश राम के घर जमीन के 15 दस्तावेज मिले हैं जबकि उनके बैंक खातों में लाखों रुपए जमा पाया गया है. ईओयू के मुताबिक अमरेश राम ने अपने पद का दुरूपयोग कर काफी संपत्ति बनाई है. हेड क्‍लर्क के पास 85 लाख की अचल संपत्ति और बैंक में जमा 23 लाख रुपए का पता चला है. औरंगाबाद में आलीशान मकान के निर्माण के अलावा 14 भूंखड की खरीद पर 85 लाख 58 हजार रुपए खर्च किया गया.जबकि घर की तलाशी में 15 भूखंडों के निबंधन से जुड़े कागजात भी मिले हैं. वहीं उनके बैंकों में 22,98,320 रुपए जमा है. ईओयू के मुताबिक अमरेश राम की अनुमानित आय 95 लाख रुपए है. जबकि इनके पास 1,21,30,470 रुपए की आय से ज्यादा संपत्ति पाई गई है.

बालू माफियाओं के साथ साठगांठ में फंसे भोजपुर के सहार के तत्कालीन थानेदार आनंद कुमार के दो ठिकानों पर ईओयू ने छापेमारी की. जिसमें इनकी अचल संपत्ति 67.30 लाख की है जबकि चल संपत्ति 13 लाख 56 हजार 700 रुपए की पाई गई है. ईओयू के मुताबिक थानेदार आनंद की कुल अनुमानित आय 78 लाख 60 हजार है जबकि इनके पास आय से 47 लाख 71 हजार 54 रुपए मिले हैं. आनंद कुमार ने पत्नी के नाम पर पटना में तीन भूखंड खरीद रखा है.

बता दें कि भोजपुर के सहार के तत्कालीन थानेदार आनंद कुमार सिंह और औरंगाबाद के जिला कल्याण कार्यालय के प्रधान लिपिक अमरेश राम पर आय से अधिक संपत्ति जमा करने का आरोप है. वहीं थानेदार आनंद कुमार पर बालू माफियाओं के साथ साठगांठ का आरोप भी लगा है. पद का दुरुपयोग करते हुए आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में प्रधान लिपिक अमरेश राम के तीन ठिकानों पर छापेमारी की गई है.