02-July-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

Bihar: अफसर बनने में आ रही पैसों की कमी तो नीतीश सरकार की इस योजना को जानिए, इस बार 5 लड़कियां बनीं IAS

Share This Post:

BIHAR: देश की सबसे कठिनतम मानी जाने वाली यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा में इस बार बिहार के कई लड़के-लड़कियों ने बाजी मारी है. लेकिन मुंगेर की अंशु प्रिया 16वीं रैंक, सहरसा की शैलजा 83वीं रैंक, मुजफ्फरपुर की शिवानी 122वीं रैंक, पटना की प्रिया रानी 284वीं रैंक और कैमूर की साक्षी कुमारी 330वीं रैंक, इन सभी को एक विशेष योजना का लाभ मिला है. दरअसल सिविल सेवा परीक्षा 2021 में बिहार सरकार की मुख्यमंत्री सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना का लाभ लेकर इन पांच लड़कियों ने सफलता हासिल की है.

मुख्यमंत्री सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना की शुरुआत सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली बिहार सरकार ने किया है. इस योजना के तहत यूपीएससी (UPSC) या बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) द्वारा आयोजित प्रारंभिक परीक्षा पास करने वाली महिला उम्मीदवारों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है. महिला एवं बाल विकास निगम की प्रबंध निदेशक हरजोत कौर बम्हरा के मुताबिक पहले केवल अनुसूचित जाति व जनजाति (एससी/एसटी) की छात्राओं को इस योजना के तहत एक लाख रुपये मिलते थे. मगर अब इस साल से सामान्य और पिछड़ा वर्ग की लड़कियों को भी योजना का लाभ मिलना शुरू हुआ है.

बता दें कि मुख्यमंत्री सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना के तहत साल 2021 में कुल 22 महिला उम्मीदवार राज्य सरकार के इस नकद प्रोत्साहन का लाभ उठा रही थीं. खास बात यह है कि पहली बार में 22 अभ्यर्थियों के आवेदन को स्वीकार किया गया था. जिनमें 5 ने सफलता प्राप्त की है. इस योजना के तहत उन सभी महिला उम्मीदवारों को 50,000 रुपये का प्रोत्साहन दिया जाता है जो राज्य सिविल सेवाओं की प्रारंभिक परीक्षाओं में सफल होती हैं. वहीं केंद्रीय सिविल सेवा परीक्षा यानि UPSC की प्रारंभिक परीक्षाओं में सफल होने पर एक लाख रुपये प्रोत्साहन राशि दी जाती है.

इस योजना में सामान्य वर्ग और पिछड़ा वर्ग की उन महिलाएं को जिन्होंने यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा (पीटी एग्जाम) पास की है. उसे 1 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाती है. ये सहायता राशि उम्मीदवार को एक ही बार में दी जाती है ताकि उसे मुख्य परीक्षा की तैयारी में किसी तरह की दिक्कत नहीं हो. वहीं राज्य सिविल सेवाओं की प्रारंभिक परीक्षाओं में सफल होने वाली लड़कियों को 50,000 रुपये का प्रोत्साहन दिया जाता है. मुख्यमंत्री सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना (Bihar Civil Seva Protsahan Yojana) का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन https://fts.bih.nic.in/swdscholarship/default.html इस लिंक के माध्यम से किया जा सकता है.