30-November-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

बिहार: शराब मामले में ढिलाई के मूड में नहीं सरकार! एसपी ने भोजपुर में इंस्पेक्टर समेत 12 पुलिसवाले सस्पेंड किए

Share This Post:

बिहार में शराबबंदी (Liquor ban in bihar) को प्रभावी तरीके से लागू कराने के लिए सरकार पुरजोर प्रयास कर रही है. शराबबंदी को सख्ती से लागू कराने के लिए सरकार ने जिम्मेदारियां तय की है.

जिसका पालन नहीं होने पर लगातार कार्रवाई हो रही है. मोतिहारी जिले के मधुबन थाना के तात्कालीन थाना प्रभारी विपिन सिंह को शराब तस्करों को संरक्षण देने का आरोप सही पाए जाने के बाद बर्खास्त कर दिया गया तो वहीं अब भोजपुर में 12 पुलिसकर्मीं को सस्पैंड कर दिया गया है.

भोजपुर जिले में शराब धंधेबाजों से साठगांठ के आरोप में नगर थानाध्यक्ष शंभू कुमार भगत समेत 12 पुलिसकर्मी को भोजपुर एसपी ने निलंबित कर दिया गया है. निलंबित पुलिसकर्मियों में क्रास मोबाइल के दस जवान एवं इंस्पेक्टर कार्यालय का एक रीडर भी है. कार्रवाई के बाद पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया है.

SP के आदेश के बावजूद मामले में लीपापोती

मामले की पूरी जानकारी देते हुए भोजपुर एसपी विनय तिवारी ने बताया कि दो दिसंबर की रात अहिरपुरवा निवासी दो भाइयों के विरुद्ध अवैध शराब बनाने और तस्करी की शिकायत मिली थी. इसमें टाउन थाना को कार्रवाई का निर्देश दिया गया था. पुलिस रात में छापेमारी कर दोनों भाइयों दीपनारायण सिंह और श्रीकांत सिंह को पकड़कर थाने लाई थी. बाद में श्रीकांत सिंह को शराब नहीं पीने की बात कहकर छोड़ दिया गया था. उन्होंने बताया कि आदेश के बाद भी शराब निर्माण के ठिकानों पर छापेमारी नहीं की गई.

फिर एसपी ने अलग टीम से कराई छापेमारी

इसके बाद दूसरे दिन एसपी विनय तिवारी ने अलग से टीम भेजकर शिवपुर इलाके में छापेमारी कराई गई. छापेमारी में देसी शराब, जावा महुआ के साथ शराब बनाने के उपकरण भी बरामद किए गए. इसे लेकर दोनों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई गई. वहीं आदेश का उल्लंघन कर शराब के अड्डे पर छापेमारी नहीं करने एवं साठगांठ के आरोप में इंस्पेक्टर शंभू भगत के अलावा इंस्पेक्टर कार्यालय के मुंशी अमित कुमार, सिपाही ओमप्रकाश, मनीष कुमार, विलास कुमार, विवेक रंजन, देव कुमार, शशिभूषण, संजय राम, शत्रुध्न चौबे, शेरू सिंह व गुड्डू कुमार समेत 12 पुलिसकर्मियों पर एसपी ने कार्रवाई की. जिसमें सभी को निलंबित कर दिया गया.
वहीं सभी निलंबित पुलिसकर्मियों पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी. इससे पहले भी 23 नवंबर को मोतीटोला से गेसिंग संचालन का रैकेट पकड़ा गया था, उसमें भी थानाध्यक्ष पर लापरवाही बरते जाने का आरोप है.

एक महीने पहले इंस्पेक्टर हुए थे पुरस्कृत

आपको बता दें कि निलंबित इंस्पेक्टर को पूर्व में डीआइजी पी कन्नन ने उत्कृष्ट कार्य के लिए शंभू कुमार भगत को दस हजार रुपये से पुरस्कृत किया था. नवंबर में पुरस्कृत होने के महज एक महीने बाद ही लापरवाही बरतने में इंस्पेक्टर शंभू कुमार भगत को सस्पेंड कर दिया गया है. ज्ञात हो कि 22 अप्रैल 2021 को नगर थाना में 29वें इंस्पेक्टर के तौर पर पदभाल संभाला था केवल 8 महीने के अंदर ही सस्पेंड कर दिए गए.