28-June-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

बिहार में पत्रकारिता कोर्स करना होगा आसान, मिलेगा IIMC का तोहफा, डॉ संजय मयूख की मांग पर अनुराग ठाकुर ने दिया आश्वासन

Share This Post:

DESK: बिहार विधान परिषद के सदस्य और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया सह-प्रमुख एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ संजय मयूख ने बिहार राज्य में ‘भारतीय जनसंचार संस्थान’ के एक कैंपस को खोलने के सम्बंध में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर से मुलाकात की। इस दौरान डॉ संजय मयूख ने एक पत्र के माध्यम से उनसे यह आग्रह किया कि बिहार के छात्रों के भविष्य का ख्याल रखते हुए IIMC का विस्तार होना चाहिए और एक सेंटर बिहार में भी एक सेंटर बनाना चाहिए।

डॉ संजय मयूख ने केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर से मुलाकात कर बिहार में भारत के प्रतिष्ठित भारतीय जनसंचार संस्थान (IIMC) का एक कैंपस बिहार राज्य में भी खोलने के लिए ज्ञापन दिया। ज्ञापन के जरिये उन्होंने केंद्रीय मंत्री से आग्रह किया कि बिहार से बड़ी संख्या में IIMC में छात्र प्रवेश के लिए एग्जाम देते हैं और बड़ी संख्या में एडमिशन भी पाते हैं।

हालांकि उन्हें पत्रकारिता का कोर्स करने के लिए दूसरे राज्यों में जाना पड़ता है। ऐसे में छात्र एवं अभिभावक दोनों असुविधा होती है। इन्हीं सब को ध्यान में रखते हुए IIMC का विस्तार किया जाए और एक सेंटर बिहार में खोल जाए ताकि ताकि यहां के छात्रों को सुविधा मिल सके।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि देशभर के अलग-अलग राज्यों में 6 सेंटर चलाये जाते हैं। जहां पर बड़ी संख्या में बिहार के स्टूडेंट जाकर शिक्षा प्राप्त करते हैं। ऐसे में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री से डॉ मयूख ने आग्रह किया कि बिहार में भी आईआईएमसी का एक सेंटर होना चाहिए ताकि बिहार के छात्रों व अभिभावकों को सुविधा के साथ ही अन्य हजारों बच्चों की संभावना को भी पंख लग सकेंगे।

खासकर जो संसाधन के अभाव दिल्ली आकर पढ़ाई नहीं कर पाते हैं. देश में पहले से ही आईआईएमसी के 6 सेंटर अलग-अलग जगहों पर चल रहे हैं। डॉ मयूख के ज्ञापन पर सकारात्मक प्रतिक्रया देते हुए मंत्री अनुराग ठाकुर ने आश्वासन दिया कि इस विषय पर विचार कर जल्द ही आगे की प्रक्रिया की जायेगी ताकि बिहार में भी आईआईएमसी का एक सेंटर स्थापित हो सके।