30-September-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

MS Dhoni Birthday: एमएस धोनी टिकट कलेक्टर से ऐसे बन गए देश की धड़कन, 10वीं के बाद क्रिकेट को लिया सीरियस

Share This Post:

MS Dhoni Birthday: पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी गुरुवार को लंदन में अपना 41वां जन्मदिन मना रहे हैं. भारतीय क्रिकेट के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक एमएस धोनी (MS Dhoni) का जन्म 7 जुलाई 1981 (MS Dhoni Birthday) को रांची, बिहार (अब झारखंड में) में हुआ था. महेंद्र सिंह धोनी के योगदान को भारतीय क्रिकेट में हमेशा याद किया जाएगा. एमएस धोनी के पास क्रिकेट की किताबों वाली तकनीक नहीं थी. ऐसे में लोगों को लगता था कि ये प्लेयर लंबा नहीं चल पाएगा. हालांकि इन बातों को गलत साबित करते हुए एमएस धोनी देश के सबसे सफलतम कप्तान बन गए. धोनी का टिकट कलेक्टर से देश की धड़कन बनने तक का सफर इतना आसान नहीं रहा है.

धोनी ने डीएवी जवाहर विद्या मंदिर, श्यामली, रांची, झारखंड से पढाई की है. धोनी ने शुरुआत में स्कूल के दौरान बैडमिंटन और फुटबॉल में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया और इन खेलों में जिला और क्लब स्तर पर चुने गए. धोनी स्कूल में अपनी फुटबॉल टीम के गोलकीपर थे और उन्हें उनके फुटबॉल कोच ने एक स्थानीय क्रिकेट क्लब के लिए क्रिकेट खेलने के लिए भेजा गया था. इस दौरान धोनी ने अपने विकेट कीपिंग के कौशल से प्रभावित किया और कमांडो क्रिकेट क्लब (1995-1998) में नियमित विकेटकीपर बने. क्लब क्रिकेट में उनके प्रदर्शन के आधार पर उन्हें 1997/98 सीजन के वीनू मांकड़ ट्रॉफी अंडर-16 चैम्पियनशिप के लिए चुना गया और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया. आपको जानकर हैरानी होगी कि धोनी ने 10वीं क्लास के बाद क्रिकेट को सीरियस लिया. धोनी खड़गपुर रेलवे स्टेशन पर 2001 से 2003 तक ट्रैवलिंग टिकट एग्जामिनर (TTE) भी रहे थे. धोनी ‘माही’ के नाम से भी काफी मशहूर है. धोनी को दुनिया का सबसे बेस्ट फिनिशर माना जाता है. धोनी को 2007 में राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार , 2009 में भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री और 2018 में भारत का तीसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान पद्म भूषण (Padma Bhushan) जैसे बड़े अवार्ड मिल चुके हैं. इंडियन आर्मी ने 1 नवंबर 2011 को धोनी को लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक से सुशोभित किया.

धोनी का शुरूआती जीवन और शादी

एमएस धोनी का जन्म रांची, बिहार (अब झारखंड में) में हुआ था. उनका पैतृक गांव लावली उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के लमगड़ा ब्लॉक में है. धोनी के माता-पिता नौकरी के सिलसिले में उत्तराखंड से रांची आ गए, जहां उनके पिता पान सिंह मेकॉन (MECON) में जूनियर मैनेजमेंट के पद पर काम करते थे. धोनी को एक बहन और एक भाई है. बहन का नाम जयंती गुप्ता और भाई का नाम नरेंद्र सिंह धोनी है. धोनी ने अपनी बचपन की दोस्त साक्षी के साथ 4 जुलाई 2010 को देहरादून के एक फार्महाउस में शादी के बंधन में बंधे. वहीं 2015 में धोनी और साक्षी के घर एक नन्ही परी का जन्म हुआ, जिसका नाम जीवा रखा.

धोनी का क्रिकेट करियर

धोनी ने 18 वर्ष की उम्र में 1999-2000 के सत्र में बिहार के लिए रणजी ट्रॉफी की शुरुआत की. हालांकि बाद में विभाजन के बाद धोनी झारखण्ड की ओर सर रणजी खेलने लगे. धोनी ने दिसंबर 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ एकदिवसीय मैच में डेब्यू किया और अपना पहला टेस्ट एक साल बाद श्रीलंका के खिलाफ खेला. धोनी भारत की ओर खेलते हुए 90 टेस्ट मैचों में 38.09 की औसत से 4,876 रन बनाए. जिसमें उन्होंने 6 शतक और 33 अर्धशतक लगाए. टेस्ट मैचों में धोनी ने 256 कैच पकड़े और 38 स्टंपिंग की. धोनी ने 350 वनडे मैचों में 50.58 की औसत से 10,773 रन बनाए. जिसमें 10 शतक और 72 शामिल है. वनडे मैचों में धोनी ने 317 कैच पकड़े और 122 स्टंपिंग की है. 98 टी20 इंटरनेशनल मैचों में धोनी ने 37.60 की औसत से 1,617 रन बनाए. जिसमें 2 अर्धशतक शामिल है.