26-June-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

मुकेश सहनी ही नहीं तेजस्वी यादव को भी लगा बड़ा झटका, बिना चुनाव लड़े BJP ने RJD को हरा दिया

Share This Post:

DESK: बीते कई दिनों से बिहार का सियासी घटनाक्रम तेजी से बदल रहा था. आख़िरकार आज बिहार की सियासत में भूचाल ही आ गया. दरअसल बीजेपी ने मुकेश सहनी को बहुत बड़ा झटका दे दिया है. मुकेश सहनी की पार्टी VIP के तीनों विधायक ने पार्टी छोड़ दी है. VIP के तीनों विधायक ने बीजेपी को अपना समर्थन देने का फैसला किया है. यानि की अब अब ये तीनों विधायक बीजेपी में विलय करने जा रहे हैं. VIP के तीनों विधायक मिश्री लाल यादव, राजू सिंह और स्वर्णा सिंह ने मुकेश सहनी का साथ छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया है. बीजेपी ने सिर्फ मुकेश सहनी को नहीं बल्कि तेजस्वी यादव को भी बड़ा झटका दे दिया है.

बीजेपी ने बिना चुनाव लड़े ही आरजेडी को हरा दिया है. जी हां हम सही कह रहे हैं. अब आरजेडी से सबसे बड़ी पार्टी का तमगा छिन गया है. अबतक आरजेडी 75 विधायकों के साथ सबसे बड़ी पार्टी थी. वहीं बीजेपी 74 विधायक के साथ दूसरी सबसे बड़ी पार्टी थी. लेकिन अब यह समीकरण बिहार विधानसभा में बदल गया है. VIP के तीन विधायक को जोड़ दिया जाए तो अब बीजेपी के पास 77 विधायक हो गए हैं. और बीजेपी बिहार में सबसे बड़ी पार्टी बन गई है. तो इसलिए देखा जाए तो यह सिर्फ मुकेश सहनी को झटका नहीं लगा है बल्कि तेजस्वी यादव के लिए भी बड़ा झटका है. मुकेश सहनी का करियर तो अब लगभग खत्म ही हो गया है.

वीआइपी के पास केवल यही तीन विधायक और एक एमएलसी मुकेश सहनी खुद हैं. हालांकि बतौर एमएलसी मुकेश सहनी का कार्यकाल कुछ ही हफ्तों में पूरा होने वाला है. ऐसे में इसके बाद वीआइपी का कोई भी विधायक या एमएलसी बिहार में नहीं बच जाएगा. फिर मुकेश सहनी क्या करेंगे. यह लाख टके का सवाल है. VIP को छोड़ने वाले तीनों विधायक बीजेपी में विलय करने जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने वीआइपी के तीनों विधायकों के भाजपा में विलय को मान्यता दे दी है.

बता दें कि VIP को छोड़ने वाले स्वर्णा सिंह दरभंगा के गौराबौरम से विधायक हैं, मिश्रीलाल यादव दरभंगा के अलीनगर से जबकि राजू सिंह मुजफ्फरपुर के साहिबगंज से विधायक हैं. विधायक राजू सिंह पहले भी मुकेश सहनी को नसीहत दे रहे थे कि गठबंधन में रह कर बीजेपी के खिलाफ लड़ना सही नहीं है. मुकेश सहनी ने जब यूपी विधानसभा में बीजेपी के खिलाफ चुनाव लड़ने का फैसला किया तब भी राजू सिंह ने इसका विरोध किया था. यूपी चुनाव में मुकेश सहनी ने पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ पर जमकर हमला बोला था. तभी से बीजेपी और मुकेश सहनी और बीजेपी के बीच तल्खी बढ़ने लगी थी.

बता दें कि कल ही यानि मंगलवार को मुकेश सहनी ने प्रेस कांफ्रेस कर अपनी पीड़ा बताई थी. उन्होंने कहा था कि बहुत सारी ऐसी बातें है जिसको आप सबके सामने नहीं रख सकता हूं आज जो हमारे साथ हो रहा है. ये राजनीति नहीं हो रहा है कूटनीति की जा रही है हमारे सहयोगी की ओर से. मुकेश सहनी ने बिना नाम लिए बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि आज कुछ लोग हमारे घर पर भी कब्ज़ा करने का कोशिश कर रहा है. हमलोगों के शरीर में जब तक सांस है लड़ेंगे. कोशिश करेंगे कि घर कब्ज़ा ना होने दें.