10-December-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

दिल्ली के करोल बाग वाले नहीं… ये हैं बिहार के 55 फीट वाले हनुमान जी, पूजा करने आएंगे CM योगी, जानिए खासियत

Share This Post:

छपरा में बन रही हनुमान जी की 55 फीट की मूर्ति

BIHAR: बिहार के छपरा में हनुमान जी की 55 फीट की मूर्ति का निर्माण हो रहा है. इसका निर्माण दिल्ली के करोल बाग के मूर्तिकारों द्वारा किया जा रहा है. प्रसिद्ध मूर्तिकार सोनू पटेल के नेतृत्व में दर्जनों कारीगरों लगे हैं. यह मूर्ति पूरी तरह कंक्रीट से बन रही है. जमीन के अंदर 40 फीट तक मूर्ति का फाउंडेशन किया जा रहा है ताकि भूकंप और आधी से कोई प्रभाव न पड़े. तेज गति से हवा और आंधी के लिए मूर्ति से सीने में स्टेचू ऑफ यूनिटी के तर्ज पर क्रॉस वेंटिलेशन के साथ-साथ कई अन्य चीजों का भी प्रयोग किया जा रहा है. मूर्ति छपरा शहर के प्रभुनाथ नगर कदम चौक के पास बन रही है.

बताया जाता है कि धूल, धूप और हवा से रंग को बचाने के लिए मल्टी लेयर कलर कोटिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जा रहा है. 1.50 करोड़ की लागत से यह मूर्ति बन रही है. मूर्ति निर्माण के कार्य में राम हरि परिवार के सदस्यों ने बताया कि 2015 में मूर्ति का निर्माण और शिलान्यास का कार्य किया जाने वाला था. तब से लगातार निर्माण के काम को तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है. बीच में कोरोना के कारण दो साल निर्माण कार्य प्रभावित हो गया था. अब फिर से शुरू हो गया है.

पहले बनने वाली थी 21 फीट की मूर्ति

बता दें कि पहले 21 फीट की मूर्ति बनने वाली थी, लेकिन 35 फीट का एग्रीमेंट हुआ और अब बनते-बनते 55 फीट की हनुमान जी की सबसे बड़ी प्रतिमा बनने जा रही है. राम हरि सदस्यों ने बताया कि शुरुआती दिनों में छोटी-छोटी मूर्ति पर विचार किया जा रहा था, लेकिन सदस्यों के द्वारा 21 फीट मूर्ति के निर्माण का निर्णय लिया गया. यह अद्भुत संयोग है कि मूर्ति 55 फीट की बन गई. स्थानीय लोगों ने भी बताया कि दिल्ली के करोल बाग के हनुमान जी की मूर्ति बनाने वाले मूर्तिकारों से संपर्क किया गया था.

मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के साथ उद्घाटन के बारे में निर्माण कर्ताओं ने बताया कि इसका उद्घाटन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा होना तय किया गया है. इसके लिए योगी आदित्यनाथ से संपर्क भी किया गया है. मूर्ति का काम अंतिम चरण में है. योगी आदित्यनाथ के द्वारा इस मूर्ति का उद्घाटन होना लगभग तय हो गया है.