25-June-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

राजधानी पटना की सड़कों पर अब दौडेंगी 125 नई CNG बसें, इन गाड़ियों को किया जाएगा पटना शहर से बाहर

Share This Post:

न्यूज़ डेस्क: राजधानी पटना की सड़कों पर 125 नयी CNG बसें स्वचालित होंगी। इनमें 75 BSRTC की बसें होंगी जबकि 50 प्राइवेट सिटीराइड बसें होंगी इनमें 25 AC बसें वहीं शेष 100 बसें नॉन एसी होंगी। प्राइवेट CNG बसों का परिचालन इसी माह के आखिरी तक शुरू हो जायेगा। शहर में दौड़ रहे प्राइवेट सिटीराइड बसों को 50-50 के चरणों में बाहर किया जायेगा।वर्तमान में शहर में 365 प्राइवेट सिटीराइड बसों का परिचालन हो रहा हैं। इन्हें 8 चरणों में शहर से बाहर किया जायेगा। हालांकि पहले चरण में 50 सिटी बसों को चयन हो गया है जिनको इसके लिए सरकार अनुदान देगी।

हर चयनित डीजल बस मालिक को नयी CNG बसों को खरीदने के लिए सरकार 7.5 लाख रुपये सब्सिडी प्रदान करती है। जबकि एक CNG बस की कीमत 25 से 30 लाख रुपये है। ऐसे में पीली सिटीराइ बस सेवा से जुड़े 85 बस मालिकों ने पटना डीटीओ को डीजल CNG कन्वर्जन वाले अनुदान के लिए आवेदन दिया था। डीटीओ श्रीप्रकाश ने बताया कि प्रथम चरण में 50 बसों का चयन हुआ है और इसके लिए 3.75 करोड़ का अनुदान स्वीकृत किया गया है। कई बस मालिकों ने बसों का ऑर्डर भी दे दिया है और ऑर्डर हुए कुछ बसें पटना शहर में पहुंच भी गई हैं। अब सब्सिडी की रकम मिला कर बस के खरीदार को रकम चुकाना है और बस अपने अधिकार में लेना है। होली के बाद यह प्रकिया प्रारंभ हो जायेगी।

BSRTC ने भी पिछले महीने 75 CNG बसों का टेंडर निकाला था जो पूरा हो गया है और अब आगे की प्रक्रिया हो रही है। बसों के द्वारा सप्लाई ऑर्डर को पूरा करने में 2 महीने लगेंगे। इस प्रकार अगले ढाई- तीन महीने में BSRTC की ये 75 नयी बसें भी पटना की सड़कों पर दौड़ लगाना शुरू कर देगी। जबकि पहले से ही 70 CNG बसें पटना की सड़कों पर दौड़ रही है और BSRTC ने बेली रोड रुट से अपनी सभी डीजल बसों को हटा लिया है। इन नयी CNG बसों के आने से बाकी बची 50 डीजल बसों को भी पटना शहर से बाहर करने में BSRTC सफल रहेगा।

पटना में अभी चल रहीं कुल सिटी बसें — 485, बीएसआरटीसी की सिटी बसें (कुल) – 120, बीएसआरटीसी की सिटी बसें (डीजल चालित) – 50, बीएसआरटीसी की सिटी बसें (सीएनजी चालित) – 50, प्राइवेट सिटीराइड बसें (अभी सभी डीजल चालित) – 365