10-December-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

अब बिहार के सरकारी विद्यालयों में महँगी हुई पढ़ाई, शिक्षा विभाग ने कई सेवाओं के शुल्क में 2 से 4 गुना तक कि वृद्धि

Share This Post:

गरीब छात्रों की मुश्किलें बढ़ सकती है अब बिहार राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ना काफी महंगा हो गया है। शिक्षा विभाग ने स्कूल की कई सेवाओं के शुल्क में वृद्धि कर दी है। इस शुल्क में 2 से 4 गुना तक की वृद्धि की गई है। शिक्षा विभाग द्वारा इस संदर्भ में आदेश भी जारी कर दिया गया है। साथ हीं विभाग ने बिजली बिल, आई डी कार्ड बनवाने तक के शुल्क में भी 2 गुना वृद्धि कर दी है। प्रवेश शुल्क बढ़ाकर 50 रुपये कर दिया गया है जो कि पहले 15 रुपए था।

वहीं विकास शुल्क 80 रुपए से बढ़ाकर 160-200 रुपए के बीच कर दिया गया है। माध्यमिक विद्यालयों में पुन: प्रवेश और पलायन शुल्क को हटा दिया गया है। शिक्षा विभाग के आदेशानुसार मनोरंजन शुल्क को भी 10 रुपए से बढ़ाकर 20 रुपए कर दिया गया है। विद्यालय रखरखाव शुल्क के लिए 50 रुपए अलग से देने होंगे। उच्च माध्यमिक विद्यालय में मनोरंजन शुल्क को 3 गुना बढ़ाते हुए 60 रुपए कर दिया गया है। जबकि विद्युत शुल्क 60 रुपए से बढ़कर 80 रूपए कर दिया गया है।

इसके अलावा शिक्षा विभाग ने कई महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं।जिससे छात्रों को काफी राहत मिलेगी। माध्यमिक विद्यालय में अनुपस्थिति और विलंब शुल्क को समाप्त कर दिया गया है। मिडिल स्कूल में पुनः प्रवेश शुल्क को समाप्त कर दिया गया है। वहीं हाई स्कूल में पलायन शुरु को भी समाप्त कर दिया गया है।
इसके साथ हीं माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों के प्राचार्य को अधिक राशि खर्च करने की शक्ति प्रदान की गई है अब प्रचार्या वार्षिक ढ़ाई लाख तक खर्च कर सकेंगे। विद्यालय के प्रचार्या 500 तक विद्यार्थियों पर सालाना डेढ़ लाख, 500 से अधिक पर 2 लाख और 750 से अधिक संख्या पर प्राचार्य सालाना ढाई लाख खर्च कर सकेंगे।