28-November-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

Bihar: पटना के ‘लाठीबाज ADM’ दोषी करार, अब बड़ी कार्रवाई होगी?, नौकरी पर भी लटकी तलवार

Share This Post:

BIHAR: राजधानी पटना में टीईटी अभ्यर्थी पर हुए लाठीचार्ज मामले में एडीएम लॉ एंड ऑर्डर दोषी पाए गए हैं. जांच कमिटी ने डीएम को रिपोर्ट सौंप दी है, जिसके बाद पटना डीएम चंद्रशेखर सिंह ने एडीएम केके सिंह को शो कॉज नोटिस जारी कर दिया है और फाइनली जवाब मांगा है. दरअसल पटना के डाक बंगला चौराहा पर 22 अगस्त को प्रदर्शन का रहे एक टीईटी अभ्यर्थी पर एडीएम केके सिंह ने तिरंगा लिए एक छात्र की बेरहमी से बेरहमी से पिटाई कर दी थी और तिरंगे पर भी लाठी चलाया था जिसके बाद बवाल मचा था. इस घटना के बाद जांच के आदेश दिए गए थे.

बताया जा रहा है कि जांच कमिटी ने सभी बिंदुओं पर जांच की, जिसमें डाक बंगला चौराहा पर लगे सीसीटीवी फुटेज, पुलिस अधिकारियों के बयान के बाद यह पाया कि एडीएम केके सिंह ने जरूरत से ज्यादा बलपूर्वक प्रयोग किया और तिरंगे का भी अपमान किया. जांच कमिटी की रिपोर्ट के मुताबिक एडीएम को छात्र की पिटाई नहीं करनी थी, जब छात्र हाथ में तिरंगा लेकर प्रदर्शन कर रहा था तो उसे सीधे गिरफ्तार करना चाहिए था. जांच कमिटी ने एडीएम की पूरी कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए उन्हें दोषी माना है.

दरअसल बीते 22 अगस्त को सातवें चरण की प्रारंभिक स्कूलों में शिक्षक बहाली के विज्ञापन जारी करने की मांग को लेकर राज्य भर के अभ्यर्थी पटना के डाक बंगला पर प्रदर्शन करने पहुंचे थे. इस दौरान वहां मौजूद एडीएम केके सिंह ने तिरंगा लिए एक छात्र की बेरहमी से पिटाई कर दी थी और तिरंगे पर भी लाठी चलाया था जिसके बाद बवाल मचा था. इसका वीडियो भी वायरल हुआ था. डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने डीएम से पूरे मामले पर जांच करने और कार्रवाई का आदेश दिया था जिसके बाद डीएम ने जांच कमिटी गठित की थी. जांच का जिम्मा डीडीसी पटना और एसपी सिटी को दिया गया था, जिसमें काफी देर भी हुई.

बता दें कि पटना के डाक बंगला चौराहा पर 22 अगस्त को टीईटी अभ्यर्थी पर हुए लाठीचार्ज मामले में एडीएम केके सिंह दोषी पाए गए हैं और डीएम चंद्रशेखर सिंह ने एडीएम को शो कॉज नोटिस जारी कर दिया है और फाइनली जवाब मांगा है. माना जा रहा है कि अब एडीएम पर बड़ा एक्शन हो सकता है और उनके खिलाफ एफआईआर भी किया जा सकता है. क्योंकि राष्ट्रध्वज का अपमान हुआ था और उसमें एडीएम की नौकरी पर भी तलवार लटक सकती है. अब देखना है कि लाठीचार्ज मामले में एडीएम केके सिंह पर क्या एक्शन लिया जा सकता है.