25-June-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

PM मोदी ने हर साल 2 करोड़ नौकरी का वादा किया था, 8 सालों में कितने को नौकरी मिली, जानें बीजेपी का जवाब

Share This Post:

DESK: रोजगार के मुद्दे पर अकसर सवालों का सामना करने वाली मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान किया है. प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से बताया गया कि अगले डेढ़ सालों में केंद्र सरकार के तमाम विभागों में 10 लाख पदों पर भर्ती की जाएगी. हालांकि मोदी सरकार के इस ऐलान को विपक्षी पार्टियां जुमलेबाजी बता रही है. आरजेडी का कहना है कि PM मोदी ने हर साल 2 करोड़ नौकरी का वादा किया था. 8 सालों में कितने को नौकरी मिली. बीजेपी की ओर से एमएलसी नवल किशोर यादव ने इसका जवाब दिया है.

जब 2014 में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने थे तब भी हर साल 2 करोड़ नौकरी का वादा किया गया था. इन 8 सालों में कितने को नौकरी मिली. इस सवाल पर बीजेपी एमएलसी नवल किशोर यादव ने कहा कि नरेंद्र मोदी जब 2014 में पीएम बने थे. तब उनको यह नहीं पता था कि कांग्रेस और उनकी सहयोगी पार्टियों ने देश की स्थिति को इस तरह नोंचकर रखा है. अब उस गड्ढे को उन्होंने भरा है. उस गड्ढे को भरने के बाद नौजवानों और किसानों पर नजर रखा है. 10 लाख नौकरी का वादा पूरा होगा. उन्होंने कहा कि वादा नहीं मोदी जो कहते हैं वही करते हैं.

इससे पहले आरजेडी द्वारा 10 लाख नौकरी को जुमलेबाजी बताने पर बीजेपी एमएलसी नवल किशोर यादव ने निशाना साधते हुए कहा कि अब उनसे पूछकर कदम उठाया जाएगा. पूरे देश में जो विकास की गति बढ़ी है. वह किसी से पूछकर हुआ है क्या. बीजेपी एमएलसी ने आरजेडी पर हमला करते हुए कहा कि उन लोगों का तो काम है, बोलते रहना. कुछ नहीं बोलेगा तो अपने मतदातों के आंखों में धूल कैसे झोंकेगा.

बता दें कि तेजस्वी यादव ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि भाजपा का प्रतिवर्ष 2 करोड़ नियमित नौकरियां देने का लिखित वादा था लेकिन 8 वर्ष के शासन बाद भी अब डेढ़ साल में केवल दस लाख नौकरियां देने का ज़ुबानी खर्च हो रहा है. इनकी बातों, वादों, कसमों, जुमलों, भाषणों और इरादों का तुलनात्मक विश्लेषण होना चाहिए कि नहीं? क्या झूठ की कोई सीमा होती है?. भाजपा की डबल इंजन सरकार बताए कि कथित डेढ़ साल में देशभर में दी जाने वाली 10 लाख नौकरियां उनके वादेनुसार बिहार में दी जाने वाली 19 लाख नौकरियों से अलग है या उसी में से है?