28-November-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

Bihar: सहरसा जेल अधीक्षक निकला करोड़पति, सालों से बैंक से नहीं निकाला है वेतन, जेलर पर दुश्मनी साधने का लगाया आरोप

Share This Post:

SAHARSA: बिहार के सहरसा में भ्रष्टाचार के खिलाफ निगरानी विभाग और उसकी स्पेशल विजलेंस यूनिट की तरफ से ताबड़तोड़ कार्रवाई की गई है. निगरानी विभाग की स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने सहरसा जेल अधीक्षक सुरेश चौधरी के ठिकानों पर छापेमारी की. तकरीबन 5 से 6 घंटे तक चली छापेमारी में कई सामान बरामद किए गए. निगरानी की स्पेशल यूनिट ने उनके खिलाफ मामला दर्ज करते हुए, छापेमारी की है. जेल अधीक्षक सुरेश चौधरी के सहरसा और मुजफ्फरपुर स्थित आवास पर छापेमारी की है. उनके ऊपर आय से अधिक लाखों से ज्यादा की संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगा है.

मिली जानकारी के अनुसार, उनके सहरसा स्थित सरकारी आवास पर सुबह-सुबह विजिलेंस की टीम पहुंच गई, जहां दो अलग-अलग टीमों ने उनके आय और संपत्ति की जांच की. इस दौरान टीम के अधिकारी ने एक बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने कहा है कि जेल अधीक्षक सुरेश चौधरी के सरकारी आवास और सरकारी कार्यालय पर छापेमारी की गई, जिसमें तकरीबन 10 लाख रुपए की बरामदगी की गई है. साथ-साथ कई महत्वपूर्ण कागजात भी बरामद की गई है. 5 से 6 घंटे तक चली छापेमारी के बाद जेल अधीक्षक सुरेश चौधरी ने एक बड़ा खुलासा किया है.

10 वर्ष के दौरान 17,00000 रुपए एसबीआई बैंक मुजफ्फरपुर में पाए गए हैं और लगभग 3,00000 पंजाब नेशनल बैंक मुजफ्फरपुर में पाए गए हैं. पैसे का काफी ज्यादा निवेश जमीन की खरीदारी एवं फ्लैट में किया गया है, जिसका लगभग 15 डीड प्राप्त हुआ है जो मुख्यतः मुजफ्फरपुर, मोतीपुर, हाजीपुर का है. इनमें लगभग तीन करोड़ के ऊपर राशि निवेश होने के साक्ष्य मिले हैं. इसके अलावा आरोपी और उनके आश्रितों के पास से लगभग 38 से अधिक बैंक के खाते में डिपॉजिट है. इसके अलावा लाखों के जेवरात भी मिले हैं. इन्होंने अपने वेतन का पैसा पिछले 1 साल से नहीं निकाला है. ऐसा अनुमान है कि पूर्व वर्षों में वेतन की निकासी नहीं हुई है.