02-July-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

पटना साहिब से हारे शत्रुघ्न सिन्हा अब ममता के सहारे, पश्चिम बंगाल से लड़ेंगे चुनाव, TMC ने की घोषणा

Share This Post:

न्यूज़ डेस्क: पश्चिम बंगाल की एक लोकसभा सीट पर और एक विधानसभा सीट पर उपचुनाव होने हैं. चुनाव आयोग ने तारीखों का ऐलान कर दिया है. वहीं ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने दोनों सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं. पूर्व केंद्रीय मंत्री शत्रुघ्न सिन्हा आसनसोल से लोकसभा उपचुनाव में टीएमसी प्रत्याशी होंगे जबकि बालीगंज से विधानसभा उपचुनाव के लिए बाबुल सुप्रियो टीएमसी उम्मीदवार होंगे. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है.

ममता बनर्जी ने ट्वीट कर लिखा है कि अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस (TMC) की ओर से यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि आसनसोल से लोकसभा उपचुनाव में पूर्व केंद्रीय मंत्री और प्रसिद्ध अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा हमारे उम्मीदवार होंगे. वहीं उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री और प्रसिद्ध गायक बाबुल सुप्रियो बालीगंज से विधानसभा उपचुनाव में हमारे उम्मीदवार होंगे. जय हिंद, जय बांग्ला, जय मां- मती- मानुष!

शत्रुघ्न सिन्हा 2019 में कांग्रेस के टिकट पर पटना साहिब से चुनाव लड़े थे. लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा. इसके बाद पिछले बिहार विधानसभा चुनाव में उन्होंने बेटे को कांग्रेस से टिकट दिलवाया था पर उन्हें भी हार मिली. कांग्रेस में रहते हुए लगातार मिल रही हार को देखते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने टीएमसी का दामन थाम लिया. शत्रुघ्न सिन्हा काफी समय तक बीजेपी से जुड़े रहे. वह सांसद से लेकर केन्द्रीय मंत्री तक बने हैं.

बता दें कि पिछले साल बीजेपी नेता बाबुल सुप्रियो ने अपनी लोकसभा सीट आसनसोल से इस्तीफा दे दिया था. जिसके बाद उन्होंने बीजेपी को छोड़ कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे. अब उन्हीं की खाली हो चुकी सीट पर उपचुनाव होने जा रहा हैं. बाबुल सुप्रियो बीजेपी के टिकट पर साल 2014 और 2019 में लगातार दो बार आसनसोल लोकसभा सीट से सांसद रह चुके हैं. कोलकाता के बाद आसनसोल पश्चिम बंगाल का दूसरा बड़ा शहर है. आसनसोल लोकसभा सीट पर पहले कांग्रेस और फिर सीपीएम का कब्जा रहा है. लेकिन 2014 से यह सीट बीजेपी के खाते में चली गई है.

बतातें चलें कि बिहार के बोचहां समेत चार राज्यों की पांच सीटों पर उपचुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है. चुनाव आयोग ने एक लोकसभा और चार विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव की तारीख घोषित कर दी है.बिहार की एक विधानसभा सीट, पश्चिम बंगाल की एक लोकसभा, एक विधानसभा, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ की एक-एक विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है. बिहार के मुजफ्फरपुर की बोचहां विधानसभा सीट, छतीसगढ़ की खैरागढ़, पश्चिम बंगाल के बालीगंज, महाराष्ट्र के कोल्हापुर नॉर्थ और पश्चिम बंगाल के आसनसोल लोकसभा सीट पर उपचुनाव होना है. चुनाव आयोग के मुताबिक 12 अप्रैल को मतदान जबकि 16 अप्रैल को मतगणना होगी.

उपचुनाव के अहम डेट
मतदान-12 अप्रैल
मतगणना-16 अप्रैल
नोटिफिकेशन जारी- 17 मार्च
नॉमिनेशन की आखिरी डेट-24 मार्च
नाम वापस लेने की आखिरी तिथि-28 मार्च
नामांकन पत्रों की छंटनी का कार्य- 25 मार्च