24-June-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

छात्र संगठनों ने शुक्रवार को बिहार बंद का ऐलान किया, प्रदर्शन की आशंका से कई ट्रेनों के रूट बदले

Share This Post:

न्यूज़ डेस्क: बिहार में RRB NTPC Exam में धांधली के आरोप के बाद लगातार प्रदर्शन जारी है. जहां पर रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) के NTPC चरण 1 परीक्षा परिणाम में कथित अनियमितताओं के विरोध में अखिल भारतीय छात्र संघ (AISA) और अन्य युवा संगठनों ने शुक्रवार को ‘बिहार बंद’ का आह्वान किया है. वहीं, छात्रों के निकायों ने छात्रों की चिंताओं को देखने के लिए एक समिति बनाने के लिए रेल मंत्रालय के कदम को एक “धोखा” करार दिया. हालांकि बिहार और झारखंड में बुधवार को बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के बाद रेल मंत्रालय ने गैर-तकनीकी श्रेणियों (NTPC) और लेवल 1 की परीक्षाओं को स्थगित करने की घोषणा की हैं.

दरअसल, अखिल भारतीय छात्र संघ (आइसा) और अन्य युवा संगठनों ने एक प्रेस बयान करते हुए कहा कि मंत्रालय द्वारा गठित समिति इस मामले को उत्तर प्रदेश में चुनाव तक स्थगित करने की एक ”साजिश” है. इस दौरान उन्होंने सरकार के आश्वासन के बावजूद झुकने से इनकार कर दिया है. साथ ही कहा है कि यह छात्र युवाओं का एक बड़ा आंदोलन है, जो तेजी से पैदा हो रही बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं.

बता दें कि रेल मंत्रालय ने नौकरी के आवेदकों द्वारा उठाए गए मुद्दों के समाधान के लिए हाई लेवल समिति का गठन किया था. वहीं, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि पैनल 4 मार्च से पहले अपनी रिपोर्ट सौंपेगा. ऐसे में अगले महीने होने वाली NTPC परीक्षाओं को स्थगित करते हुए, केंद्र सरकार ने नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों को अपनी चिंताओं को प्रस्तुत करने के लिए 3 हफ्ते यानि कि आगामी (16 फरवरी तक) का समय दिया है.

RRB परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए छात्रों ने रेलवे ट्रैक पर जमकर विरोध-प्रदर्शन किया. इस दौरान छात्रों के प्रदर्शन को देख रेलवे परिचालन को रोक दिया गया. ऐसे में ट्रेनें जहां-तहां खड़ी हो गई. वहीं, कई ट्रेनों के रूट को बदलकर चलाया गया. हालांकि दानापुर PRO द्वारा पत्र जारी करते हुए बताया गया कि श्रमजीवी एक्सप्रेस, पटना-कोटा एक्सप्रेस, दानापुर-सिकंदराबाद एक्सप्रेस और पूर्वा एक्सप्रेस को रूट बदलकर आगे के लिए चलाया गया. ऐसे में कई ट्रेनों को आरा-सासाराम के रास्ते पीडीडीयू तक पहुंचाया गया. वहीं कुछ ट्रेनों को छपरा-वाराणसी के रास्ते रवाना किया गया.