25-June-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

पटना के बिहटा में बनेगा राज्य का पहला फायर ब्रिगेड ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, ट्रेनिंग के लिए नहीं जाना पड़ेगा राज्य से बाहर

Share This Post:

DESK: पुलिस सशक्तीकरण में ट्रेनिंग सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसके लिए समुचित ट्रेनिंग की व्यवस्था के तहत विशेष ट्रेनिंग सेंटर बनाने की कवायद के अंतर्गत बिहटा में फायर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट स्थापित की जायेगी। गृह विभाग से सहमति मिलने के बाद एक से दो महीनें में इसके निर्माण की प्रक्रिया प्रारंभ हो जायेगी।

हालांकि संभावना है कि 2 से 3 वर्ष में इसका निर्माण पूरा हो जाएगा। बिहार में फायरमैन का यह पहला आधुनिक ट्रेनिंग सेंटर होगा, जिसमें फायरमैन सहित अग्निशमन के सभी कर्मियों को आधुनिक ट्रेनिंग दी जायेगी। खासतौर से इस ट्रेनिंग सेंटर की स्थापना में सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स (CISF) की कंसल्टेंसी रहेगी।

राज्य में हर साल अगलगी की काफी घटनाएं होती हैं। सम्पूर्ण राज्य में 168 हॉट स्पॉट चिह्नित किये गये हैं, जहां गर्मी के दिनों में आग लगने की संभावना काफी होती है। हालांकि इसके लिए सभी संबंधित जिलों को अलर्ट भी किया गया है। और यहां सबसे अधिक जो आग लगती है शॉर्ट सर्किट की वजह से। इसको रोकने के लिए फायर ब्रिगेड के कर्मी बिजली विभाग के इंजीनियर के साथ सभी महत्वपूर्ण भवनों का ऑडिट कराया जा रहा है। वहीं ग्रामीण इलाकों में गैस सिलिंडर से भी अधिक घटनाये होती है जिसके रोकथाम के लिए ग्रामीण इलाकों में व्यापक स्तर पर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। एक साल में 768 गैस गोदामों का ऑडिट किया जा रहा है। ग्रामीण अग्निकांड की रोकथाम के लिए कई स्तर पर लगातार अभियान चलाये जा रहे हैं।

आपको बता दूं कि इस विशेष ट्रेनिंग सेंटर के बन जाने के बाद फायरमैन समेत ऐसे अन्य कर्मियों को ट्रेनिंग के लिए राज्य से बाहर भेजने की जरूरत नहीं पड़ेगी। राज्य से अभी तक लगभग 400 फायरमैन समेत अन्य को बेहतर ट्रेनिंग के लिए दूसरे जगहों पर भेजा गया है। इसमें नागपुर स्थित एनएफएससी, हैदराबाद के एनआइएसए और दिल्ली स्थित फायर सेफ्टी मैनेजमेंट एकेडमी संस्थान मुख्य हैं। इसके अलावा समय-समय पर राजधानी पटना में इनके लिए रेफ्रेशर कोर्स भी हमेशा चलाये जाते हैं। खासतौर से प्रशिक्षण पर जोर दिया जा रहा है। इसलिए यह संस्थान कई मायने में बहुत हो खास रहेगा।