01-July-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

बिहार-नेपाल के बीच जुलाई से होगा ट्रेनों का परिचालन, DRM के साथ अधिकारियों के रेल खंडों का किया निरीक्षण

Share This Post:

DESK: एनएफ रेलवे कटिहार मंडल के डीआरएम कर्नल एसके चौधरी ने रविवार को अधिकारियों के साथ फारबिसगंज-सहरसा बन रहे रेलखंड एवं बथनाहा-विराटनगर इंडो नेपाल निर्माणाधीन रेलखंड का निरीक्षण के दौरान उन्होंने दोनों रेलखंडों पर जुलाई महीने तक ट्रेनों का परिचालन की बात कही। वहीं जोगबनी- कोलकाता जाने वाली चित्तपुर एक्सप्रेस एवं आनंद विहार दिल्ली को जाने वाली सीमांचल एक्सप्रेस में अब चादर एवं कंबल सहित अन्य चीजें उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है।

साथ ही उन्होंने कहा सीमांचल ट्रेन में अभी 22 बोगी है जो अच्छी बात है। निरीक्षण के क्रम में ही DRM ने कई मामलों पर अधिकारियों से वार्तालाप की तथा दोनों रेलखंडों पर ट्रेन शुरू होने के प्रश्न पर मंथन किया। DRM ने पहले बथनाहा से बिराटनगर तक बनने वाले इंडो-नेपाल रेल प्रोजेक्ट का जायजा लिया। फिर फारबिसगंज रेलवे स्टेशन पर फारबिसगंज- सहरसा के बीच बन रहे बड़ी रेल लाइन की समीक्षा की।

साथ ही कार्यों की गुणवत्ता की भी जांच की। बाद में फारबिसगंज स्टेशन अधीक्षक के कार्यालय में डीआरएम ने मीडिया से कहा कि आगामी जुलाई तक फारबिसगंज-सहरसा रेल लाइन सहित इंडो-नेपाल रेल प्रोजेक्ट के तहत बथनाहा से विराटनगर तक ट्रेनों का परिचालन होने की पूरी संभावना है। DRM ने कहा कि नेपाल में कुछ भूमि अधिग्रहण में दिक्कतें आरही है। किन्तु बथनाहा-नेपाल कस्टम यार्ड तक रेल लाइन बनकर तैयार है। कई बार इसकी जांच हो चुकी है।

जुलाई तक बथनाहा-नेपाल स्थित कस्टम यार्ड तक ट्रेनों का परिचालन होगा। कहा कि बन रहे रेल खंड के काम काफी तेजी से किया जा रहा है। DRM ने एक प्रश्न के जवाब में कहा की मीरगंज पुल का सेफ्टी एप्रूवल नहीं मिला है। सेफ्टी अप्रूवल सिविल एविएशन का मामला है जब तक सेफ्टी में संशय रहेगा तब तक एनओसी मिलना मुश्किल है। क्योंकि पुल का 50-100 वर्ष तक की उम्र का आकलन होता है। संतुष्टि होने के बाद ही एनओसी प्राप्त होगा। 

DRM ने अचानक से फारबिसगंज रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। और स्टेशन पर वीआईपी रूम शुरू करने और सुविधाओं से सुसज्जित करने के निर्देश दिए। साथ ही फारबिसगंज रेलवे स्टेशन पर CCTV कैमरा लगाने को कहा। तथा इस स्टेशन के परिसर में पार्किंग की व्यवस्था बेहतर करने के लिए जारी टेंडर प्रक्रिया को शीघ्र ही पूरा कर लिया जाएगा।

DRM के साथ सीनियर डीसीएम अमर मोहन ठाकुर, आईओडब्ल्यू चंद्रशेखर प्रसाद, आरपीएफ प्रभारी उमेश प्रसाद सिंह, डीआर यूसीसी सदस्य विनोद सरावगी, सीनियर डीएसओ आरके झा, सीनियर डीएनसी एस कामयी, डीएन 2 जेपी दास, जेई इलेक्ट्रिक एसके मुर्मू, स्टेशन अधीक्षक मनोज झा, रविंद्र कुमार सहित स्थानीय लोग मौजूद थे।