30-September-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

ढोलबज्जा में, जमीन कब्जा कर घर बना रहे अतिक्रमणकारियों व सीओ के खिलाफ बाजार बंद..थाना गेट के सामने धरना प्रदर्शन.

Share This Post:

रिपोर्ट/मनीष कुमार मौर्या/-ढोलबज्जा: ढोलबज्जा में, बीते शुक्रवार से हीं भू-दान की जमीन बता वहां के दर्जनों महादलित परिवारों ने करीब 80 डिसमिल जमीन पर कब्जा कर घर बना रहे हैं. जिसके विरोध में जमीन मालिक विन्देश्वरी प्रसाद जायसवाल के बेटे राजेश कुमार ने अपने दर्जनों समर्थकों के साथ सोमवार को बाजार बंद कर सुबह करीब आठ बजे थाना गेट के सामने धरना प्रदर्शन पर बैठ गए. बताया जा रहा है कि जमीन मालिक द्वारा यह धरना प्रदर्शन उनके जमीन पर कब्जाधारियों व नवगछिया सीओ के खिलाफ किया जा रहा था. धरना पर बैठे राजेश कुमार ने बताया कि- जिस जमीन पर महादलित परिवारों ने कब्जा कर घर बना रहे हैं वह जमीन मेरा खतियानी व रैयती है.

जिसका रसीद भी अप-टू-डेट है. फिर भी दर्जनों महादलित परिवारों ने मेरी 80 डिसमिल जमीन को भूदानी बता उस पर अवैध रूप से कब्जा कर घर बना रहे हैं. उधर नवगछिया सीओ ने भी बिना देखे करीब 41 महादलित परिवारों के दखल कब्जा की पर्चा रसीद दे रहे हैं.

वहीं घर बना रहे भिखारी राम के साथ दर्जनों महादलित परिवारों ने बताया कि- हमलोगों को पर्चा व रसीद मिला हुआ है. साथ में करीब 25 ऐसे भूमिहीन महादलित परिवार है, जो तत्काल कब्जा किए हुए हैं. कब्जाधारियों का कहना है, यह जमीन करीब दो एकड़ अठारह डिसमिल भू-दान की है. भूमिहीन होने के कारण हमलोग 20 वर्षों से अंचल कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं लेकिन, हमलोगों को बसाने के लिए कोई पदाधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ध्यान नहीं दे रहे हैं. इसलिए भू-दान की जमीन जान कर यहां चढ़ाई की है. धरना प्रदर्शन की सूचना मिलते हीं नवगछिया इंस्पेक्टर मार्कंडेय सिंह व सीओ विश्वास आनंद ढोलबज्जा पहुंचे. धरना पर बैठे लोगों को समझाने बुझाने का प्रयास कर रहे थे.

लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं थे. धरना पर बैठे लोग कब्जाधारी महादलित परिवारों को हटाने व गलत तरीके से पर्चा रसीद देने वाले अंचल कर्मियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे. जमीन मालिक राजेश कुमार के द्वारा 41 महादलित परिवारों के खिलाफ ढोलबज्जा थाने में लिखित आवेदन देने के बाद थानाध्यक्ष ने प्राथमिकी दर्ज कर, सभी आरोपितों को 1 जनवरी के दिन थाना में उपस्थिति के लिए नोटिस भेजा.

जहां अंचलाधिकारी के समक्ष मामले को देख कर उचित कार्रवाई की बात बताई गई है. उसके बाद सभी लोग धरना प्रदर्शन से हटे. मौके पर नव निर्वाचित मुखिया सच्चिदानंद यादव, सरपंच सुशांत कुमार के साथ अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे.