02-July-2022

Before Publish News

Before Publish News Covers The Latest And Trending News on Village, City, State, Country, Foreign, Politics, Education, Business,Technology And Many More

नवगछिया: कोसी नदी किनारे अवैध खनन की सूचना पर अपराधियों के धड़-पकड़ के लिए बिहपुर सर्किल इंस्पेक्टर के नेतृत्व में की गई छापेमारी,मचा हड़कंप

Share This Post:

Naugachia: नदी थाना क्षेत्र के कोसी नदी के किनारे तरहन्ना दियारा की मिट्टी व उजली बालू पर इलाके के दबंगों की नजर है। कुछ महीनों से यहां अवैध खनन लगातार जारी है। किसानों की रैयत्ति जमीन से दबंगो द्वारा मिट्ठी काटकर ठीकेदार को बेच रहा है। इससे कोसी नदी का कुल-किनारा बदल सकता है। साथ ही नान्हकर त्रिमुहान जमींदारी बांध पर भी संकट उत्पन्न हो सकता है। मालूम हो कि बिहपुर प्रखंड में कई जगहों पर जमींदारी बांध पर कोसी का दबाव प्राय: बना रहता है। इधर, दबंगों ने कोसी कछार में जेसीबी से मिट्टी व बालू का अवैध खनन शुरू कर दिया है। इस बार एजेंसी के ठीकेदार को बालू बेची जा रही है। इस खेल में कई सफेदपोशों के शामिल होने की सूचना है।

जानकारी के मुताबिक एनएच 106 मिसिंग लिंक निर्माण कर रहे एजेंसी के ठीकेदार दबंगों के साथ मिलकर मोटी रकम देकर मिट्टी निर्माण कार्य में डाल रही है। सूत्रों के अनुसार बीते एक माह से कोसी नदी के किनारे जेसीबी और ट्रैक्टरों के सहारे अवैध खनन कार्य हो रहा है। इस संबंध में पिछले दिनों नन्हकार के दर्जनों ग्रामीणों ने एकजुट होकर बैठक कर भागलपुर प्रक्षेत्र के डीआजी को आवेदन देकर अबैध खनन पर रोक लगाने की मांग की थी। जिसके बाद बिहपुर सर्किल इंस्पेक्टर विनय कुमार के नेतृत्व में नदी थानाध्यक्ष अशोक कुमार व दर्जनों पुलिस बलों के साथ कोसी दियारा के तरहन्ना दियारा समेत बेलोरा दियारा, अठरबिग्घि, दयालपुर मौजा तथा मधेपुरा जिले के सीमा तक छापेमारी किया लेकिन खनन के दबंग तबतक वहां से फरार हो चुके थे। जेसीबी, ट्रैक्टर आदि कुछ भी वहां नहीं था। हां, खनन के निशान स्पष्ट थे। स्थल पर खनन नही हो रहा था।

जिसके बाद सभी पदाधिकारी लौटे। बिहपुर इंस्पेक्टर विनय कुमार ने कहा कि स्थानीय लोगो के अनुसार तरहन्ना दियारा मधेपुरा जिले की सीमा में पड़ता है। इसके लिए मापी होगी।बिहपुर सीओ बलिराम प्रसाद ने कहा अमीन द्वारा उक्त स्थल की मापी कर सत्यापन कर अबैध खनन करने वालों पर कड़ी कार्यवाई होगी। बिहपुर थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने कहा कि उक्त स्थल पर नजर बनाए हुए हैं। छापेमारी जारी रहेगी।

अवैध खनन करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। दूसरी ओर एनएच 31 होकर बालू भरे ट्रैक्टर चलने से राहगीर समेत स्थानीय लोगों को परेशानी हो रही है। सबसे दयनीय स्थिति झंडापुर ओपी क्षेत्र बिहपुर थाना क्षेत्र एनएच की बनी हुई है। ग्रामीणों के मुताबिक दर्जनों बालू लदे ट्रैक्टर ट्राली प्रतिदिन एनएच होकर गुजरता है। टेलर पर लोड बालू को तिरपाल से नही ढकने के कारण उड़ती धूल से लोग परेशान रहते हैं। ट्राली से बालू नहीं उड़े इसका ख्याल नहीं रखा जा रहा है।